न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

वाराणसी से मोदी का मुकाबला करेंगे चंद्रशेखर, कहा- संविधान से छेड़छाड़ हुई तो भीमा-कोरेगांव दोहरायेंगे     

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे. यह घोषणा करते हुए चंद्रशेखर ने प्रधानमंत्री को दलित विरोधी बताया.

62

NewDelhi :  भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे. यह घोषणा करते हुए चंद्रशेखर ने प्रधानमंत्री को दलित विरोधी बताया. साथ ही धमकी दी कि जिस दिन संविधान पर आंच आयी तो भीमा-कोरेगांव दोहरा देंगे. इस क्रम में उन्होंने भाजपा से सत्ता छीनने की अपील लोगों से की. शुक्रवार को दिल्ली में जंतर-मंतर पर आयोजित हुंकार रैली में चंद्रशेखर ने कहा, मैं बनारस जा रहा हूं और मुझे  नरेंद्र मोदी को हराने के लिए आपकी मदद की जरुरत है. मैं वहां जा रहा हूं क्योंकि वे दलित विरोधी हैं.  उन्हें पता होना चाहिए कि उन्हें इसकी सजा मिलेगी. लोकतंत्र में जनता ही सबकुछ है. पीएम मोदी के कुंभ में सफाई के लिए काम करने वालों के पैर धोने पर चुटकी लेते हुए चंद्रशेखर ने कहा,  जब मैंने उनके खिलाफ बनारस से लड़ने का ऐलान किया तो वे हमारे भाइयों के पैर धोने लगे.  उन्होंने मतदाताओं से वोटिंग से पहले रोहित वेमुला को याद करने के लिए कहा. कहा  कि मैं राजनेता नहीं बनना चाहता.

इसे भी पढ़ेंः डॉ मनमोहन सिंह ने दिया जीएसटी काउंसिल को चेंजमेकर ऑफ द ईयर अवार्ड , जेटली ने रिसीव किया

वोट देने से पहले रोहित की शहादत याद रखना

मैं मोदी को यह संदेश देना चाहता हूं कि देश में कोई है जो उन्हें आसानी से जीतने नहीं देगा.  मैं बहुजन का बेटा हूं.  कोई है जो उन्हें वापस गुजरात जाने के लिए विवश कर सकता है. बता दें कि गुरुवार, 14 मार्च को उन्होंने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को रोहित वेमुला की हत्या का जिम्मेदार बताया था. चंद्रशेखर ने आम जन से कहा, वोट देने से पहले रोहित की शहादत याद रखना. अत्याचारी, अत्याचारी होता है, वो कभी तुम्हारा हितैषी नहीं हो सकता. इसलिए मैंने कहा भीमा-कोरेगांव दोहरा देंगे, अभी उसकी जरुरत नहीं है, जिस दिन देश के संविधान पर आंच आयी, भीमा-कोरेगांव दोहरा देंगे.

याद करें कि महाराष्ट्र के पुणे जिले में स्थित भीमा-कोरेगांव इलाके में एक जनवरी 2018 को हिंसा हो गयी थी. हिंसा महाराष्ट्र के महार समाज के लोगों की मदद से पेशवाओं पर अंग्रेजों की जीत की 200वीं बरसी पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान शुरू हुई थी.

इसे भी पढ़ेंः हमारे पास पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव जीतने लायक उम्मीदवार नहीं : भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: