lok sabha election 2019

चंद्रप्रकाश चौधरी गिरिडीह से उम्मीदवार तो बने, लेकिन जानिए क्या हुआ आजसू के संसदीय बोर्ड की बैठक में

Ranchi: गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र से आजसू के टिकट पर कौन लड़ेगा इसकी औपचारिक घोषणा हो गयी. पहले से ही तय नाम पर मुहर भी लगी. लेकिन जानने वाली बात यह है कि औपचारिक घोषणा से पहले चली करीब दो घंटे की संसदीय बोर्ड की बैठक में क्या हुआ. किसने क्या कहा, किसने किसका समर्थन किया और किसने किसका नाम आगे बढ़ाया. बोर्ड की बैठक में जिस तरीके से कई सदस्यों ने अपनी बात रखी, उससे पार्टी की लोकतांत्रिक छवि साफ हो रही थी. लेकिन एक बात सदस्यगण यह भी कह रहे थे कि आखिर में पार्टी सुप्रीमो की ही बात मान्य होगी. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. तो फिर हुआ क्या?

इसे भी पढ़ें – अन्नपूर्णा देवी बीजेपी में शामिल, गौतम सागर राणा को झारखंड राजद की कमान

राजकिशोर की दिली चाह थी कि सुदेश हों उम्मीदवार

बोर्ड की बैठक में टुंडी विधायक राज किशोर महतो की दिली चाहत थी कि पार्टी सुप्रीमो सुदेश महतो ही गिरिडीह लोकसभा सीट से चुनाव लड़ें. बोर्ड की बैठक में उन्होंने साफ लफ्जों में कहा कि सुदेश महतो को गिरिडीह से चुनाव लड़ना चाहिए. लेकिन पार्टी सुप्रीमो इस पर फैसला लें. वहीं जुगसलाई विधायक रामचंद्र सहिस ने विधायक राजकिशोर महतो की बात काट दी. उन्होंने कहा कि ऐसा मौका दोबारा नहीं आएगा. पार्टी अगर इस सीट पर परचम लहराती है, तो देश भर में आजसू का नाम होगा. पहली बार पार्टी से कोई संसद पहुंचेगा. ऐसे में चंद्रप्रकाश चौधरी से बेहतर विकल्प और कोई नहीं हो सकता है. अगर सिर्फ चुनाव लड़ने की बात है तो पार्टी में कई नेता हैं, जो उम्मीदवारी कर सकते हैं. लेकिन जीत शायद नहीं दिला पायें. इसलिए चंद्रप्रकाश चौधरी को ही गिरिडीह से टिकट मिलना चाहिए. बाद में उन्होंने फिर कहा कि आखिरी फैसला सुप्रीमो का ही मान्य होगा.

advt

इसे भी पढ़ें – राजद की बागी ‘अन्नपूर्णा’ बीजेपी से ‘चतरा’ में देख रही हैं जीत का समीकरण, ‘कोडरमा’ से ‘प्रणव’ का हो सकता है रास्ता साफ

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button