1st LeadJamshedpurJharkhandMain SliderSaraikelaTOP SLIDERTop Story

सरायकेला के डोबो में विवादित भूखंड पर विधायक को कब्जा दिलाने गये चांडिल सीओ ने आदिवासी रैयत की गर्दन दबोची

Jamshedpur : सरायकेला- खरसांवा जिले के कपाली ओपी अंतर्गत डोबो में एक विवादित भूखंड पर स्थानीय विधायक सविता महतो को प्रशासन ने कब्जा दिला दिया. इस दौरान स्थानीय आदिवासियों को कब्जा दिलाने गये प्रशासनिक अधिकारियों के बीच काफी गरमा-गरमी हुई. विरोध के दौरान चांडिल के अंचलाधिकारी प्रणव अंबष्ठ अपना आपा खो बैठे और एक आदिवासी रैयत की गर्दन पकड़कर उसे धक्का दे दिया. भारी विरोध के बीच डंडे के जोर पर विधायक को जमीन का कब्जा दिला कर घेराबंदी करा दी गयी.

जमीन को लेकर चल रहा है विवाद
बता दें कि  डोबो के हनुमान नगर में एक भूखंड को लेकर स्थानीय झामुमो विधायक सविता महतो और आदिवासी भूमिज समाज के लोगों के बीच बीते कुछ महीनों से विवाद चल रहा था. मंगलवार को सुबह उक्त भूखंड की घेराबंदी के लिए चांडिल अंचलाधिकारी प्रणव अंबष्ठ, कपाली ओपी प्रभारी सतीश कुमार समेत भारी संख्या में महिला व पुरुष पुलिस बल की तैनाती की गयी थी. जमीन घेराबंदी की शुरुआत होते ही स्थानीय लोग विरोध पर उतारू हो गये. बढ़ते हंगामे को देख पुलिस ने दर्जनों महिलाओं को बस में भर दिया. हालांकि कुछ देर बाद उन्हें छोड़ दिया गया. वहीं पुरुषों द्वारा विरोध किये जाने के क्रम में अंचलाधिकारी ने एक आदिवासी को  गर्दन पकड़ कर धकेल दिया. दिन भर गतिरोध की स्थिति बनी रही. मौके पर पहुंचे चांडिल अनुमंडल पदाधिकारी रंजीत लोहरा ने कहा कि कि उक्त जमीन को सविता महतो ने खरीदा है. यह जमीन पूर्व में मि स्टीव्स और मिस सूजा के नाम पर थी. इधर, ग्रामीणों का कहना है कि उक्त जमीन पिछले सौ साल से उनके कब्जे में है.  जमीन के कागजात भी होने का दावा उन्होंने किया. जानकारी मिल रही है कि उक्त भूखंड को लेकर एक मामला न्यायालय में विचाराधीन है. बावजूद इसके  प्रशासन की मौजूदगी में घेराबंदी की गयी.

इसे भी पढ़ें – राकेश्वर पांडेय बने झारखंड के फुल टाइम इंटक अध्यक्ष, संजीवा रेड्‌डी ने लगाई मुहर, नयी टीम में सीनियर वीपी बनाये गये अनूप

Sanjeevani

Related Articles

Back to top button