JharkhandLead NewsNationalNEWSRanchiSports

ओरमांझी के खेतों से निकलकर कुश्ती की चैंपियनशिप में तिरंगा लहराएंगी चंचला

RANCHI: ओरमांझी के खेतों से उठकर चंचला कुमारी अब विदेशी धरती पर तिरंगा लहराने वाली हैं. एक किसान परिवार व प्लंबर मिस्त्री नरेंद्रनाथ पाहन की बिटिया चंचला का चयन पूरे झारखंड के लिए गौरव की बात है. 19 से 25 जुलाई तक बुडापेस्ट हंगरी में होने वाले सब जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप के लिए चंचला का चयन हुआ है. इस प्रतियोगिता के लिए चुनी जाने वाली वह झारखंड की पहली महिला पहलवान है.

इसे भी पढ़ें : बेरोजगारों को सीएम प्रोत्साहन योजना का लाभ देने की पहल शुरू, जानें-किन शर्तों का पालन जरूरी

गांव में खुशी की लहर

ram janam hospital
Catalyst IAS

भारतीय कुश्ती टीम में चयन होने से चंचला के गांव ओरमांझी प्रखंड क्षेत्र के हतवल गांव में खुशी की लहर है, ओरमांझी प्रखंड क्षेत्र के सुदूरवर्ती गांव से निकलकर चंचला ने जिस तरह अपने गांव और राज्य का नाम रोशन किया है उसकी चर्चा चारों तरफ हो रही है, चंचला की सफलता से पूरा ओरमांझी प्रखंड में खुशी है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

रेजा का काम करती है चंचला

चंचला की मां बताती हैं कि चंचला जब घर में रहती है तो रेजा व खेतों में भी काम करती है. उसका अपने ऊपर आत्मविश्वास था. वह कहती थी कि एक दिन भारतीय टीम में शामिल होगी. उन्होंने बताया कि वह घर में धान की भरी बोरी उठा लेती थी. उसके इसी आत्मविश्वास ने उसे आज इस मुकाम पर पहुंचा दिया है.

ऐसी पहुंची चंचला इस मुकाम पर

चंचला के पिता नरेंद्रनाथ पाहन और गांव वाले बताते हैं कि 2016 में झारखंड सरकार और सीसीएल के सौजन्य से गांव की खेल प्रतिभाओं का चयन हो रहा था. उस वक्त गांव से दर्जनों बच्चे ट्रायल देने गए थे. उसमें गाव से चंचला के अलावा अन्य छह बच्चों का भी चयन हुआ है. ताकत व आत्मविश्वास के कारण आज चंचला सब जूनियर विश्व चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाई करने में सफल हुई है.

 

चंचला की उपलब्धियां :

2017-18 : स्कूल गेम्स फेडरेशन आफ इंडिया राष्ट्रीय कुश्ती सिल्वर मेडल

2018-19 : स्कूल गेम्स फेडरेशन आफ इंडिया राष्ट्रीय कुश्ती गोल्ड मेडल

2019-20 : स्कूल गेम्स फेडरेशन आफ इंडिया राष्ट्रीय कुश्ती गोल्ड मेडल

2019-20 अंडर-15 : नेशनल ब्रांज मेडल

2020-21 : सब जूनियर नेशनल ब्रांज मेडल

 

डीएवी नंदराज रांची की है छात्रा

चंचला के पिता ने बताया कि उसकी प्रतिभा के कारण ही उसका चयन स्पोर्ट्स में हुआ. इसके बाद वहीं से उसे डीएवी नंदराज में नामांकन भी करा दिया गया. फिलहाल चंचला कक्षा नौ में पढ़ाई कर रही है. वहीं, उसके भाई किशोर पाहन एक निजी गार्ड का काम करता है. वहीं, बहन पूजा कुमारी आरटीसी कॉलेज आनदी से बीए की पढ़ाई कर रही है. छोटी बहन एसपीवी दड़दाग में छठी कक्षा में पढ़ाई कर रही है. मां गृहणी है और अपने खेत में काम करती है.

Related Articles

Back to top button