न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चांसलर पोर्टल का कमाल, एफिलिएटेड कॉलेज हुये मालामाल

रॉ डाटा पर काम कर रहे हैं विश्वविद्यालय और कॉलेज

289

Ranchi : चांसलर पोर्टल पर नामांकन प्रक्रिया आरंभ करने का उद्देश्य सरकारी विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों में छात्रों को सिंगल विंडो के माध्यम से सरल रूप से नामांकन कराना था. चांसलर पोर्टल में आयी तकनीकी खराबी के कारण नामांकन प्रक्रिया पिछले दो महीने से चल रही है लेकिन अभीतक किसी भी विश्वविद्यालय एवं कॉलेज में छात्रों को सत्र आरंभ नहीं हुआ है.

इसे भी पढ़ें- वाई-फाई के नाम पर कहीं कमीशनखोरी का खेल तो नहीं खेल रहा उच्च शिक्षा विभाग

एफिलिएटेड कॉलेजों के सीट छात्रों से भरे 

चांसलर पोर्टल में नामांकन प्रक्रिया में देरी के कारण एफिलिएटेड कॉलेजों के सीट छात्रों से भर गये हैं. कांके स्थित एसएस मेमोरियल कॉलेज में नामांकन प्रक्रिया खत्म होने के साथ ही छात्रों की कक्षाएं अब आरंभ हो गयी है. लेकिन मारवाड़ी कॉलेज जैसे संस्थानों में अभी भी नामांकन प्रक्रिया चल ही रही है. कुल मिलाकर देखें तो चांसलर पोर्टल के आने से एफिलिएटेड कॉलेजों को इस सत्र में काफी लाभ हुआ है. जहां एक ओर जेएन कॉलेज धुर्वा में चांसलर पोर्टल से सौकड़ों की संख्या में छात्र मिले, वहीं एसएस मेमोरियल कॉलेज में हजारों की संख्या में छात्रों ने नामांकन लिया.

इसे भी पढ़ें पलामू : नहीं रहे पूर्व राज्यपाल भीष्म नारायण सिंह, शोक की लहर

रॉ डाटा पर काम कर रहे हैं विश्वविद्यालय और कॉलेज

palamu_12

चांसलर पोर्टल के माध्यम से विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को जो डाटा उपलब्ध कराया गया है, वो पूरी तरह से रॉ डाटा है. डाटा में छात्रों का पूरा विवरण दिया गया है. लेकिन कॉलेजों को सूची तैयार करने के लिए उसमें काफी मशक्त करनी पड़ रही है. कॉलेज के अधिकारियों का कहना है कि जब काम  हमें ही करना था तो पहले वाली नामांकन प्रक्रिया आसान थी. पोर्टल संचालक सह एनआइसी प्रतिनिधि ने न्यूज विंग को बातया कि कॉलेजों को लाइव डेटा दिया गया है उस पर काम कॉलेज को ही करना है. अगामी तीन अगस्त से आरयू में छात्रों के नामांकन को लेकर मेरिट लिस्ट जारी कर दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें- इंटक को लेकर सुप्रीम कोर्ट के दो फैसले राजेंद्र सिंह के पक्ष में, कोल इंडिया में नयी राजनीति की शुरुआत

इसे भी पढ़ें- झा परिवार के सातों सदस्यों का हुआ अंतिम संस्कार, चेहरा तक देखने नहीं आयी नाराज बेटी

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: