JharkhandLead NewsRanchi

नेशनल गोपाल रत्न अवार्ड पाने का मौका, मिलेंगे 5 लाख, जानें क्या होंगी शर्तें

Ranchi : भारत सरकार के मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय ने नेशनल गोपाल रत्न अवार्ड देने की योजना बनायी है. ऐसे डेयरी पशुपालक जो डेयरी के क्षेत्र में लगातार सक्रिय हैं, उन्हें प्रोत्साहित करने को यह पहल हुई है. उसकी ओर से प्रगतिशील पशुपालकों (डेयरी से जुड़े) को सम्मानित करने को राज्यों के पशुपालन एवं सहकारिता विभाग का भी सहयोग लिया जा रहा है. झारखंड में भी कृषि, पशुपालन विभाग ने प्रगतिशील किसान, पशुपालकों से इसके लिये आवेदन मांगे हैं. निर्धारित प्रपत्र में पशुपालकों को आवेदन करने होंगे. चयनितों को 5 लाख (पहला स्थान), 3 लाख (द्वितीय) और 2 लाख (तृतीय) रुपये पुरस्कार स्वरुप दिये जायेंगे. इसके अलावे प्रशस्ति पत्र और मोमेंटो भी दिया जायेगा.

कौन करेंगे आवेदन

सभी जिलों में जिला गव्य विकास कार्यालय की ओर से विज्ञापन जारी किये जा रहे हैं. इसके मुताबिक नेशनल गोपाल रत्न अवार्ड 2020-21 का आयोजन किया जायेगा. इस अवार्ड के तहत सर्वश्रेष्ठ डेयरी किसान स्वदेशी पशु नस्ल (Best Dairy farmer rearing indigenous cattle breeds) पुरस्कार में चयनित आवेदकों को सम्मान मिलेगा. वैसे पशुपालक जो स्वदेशी नस्ल की दुधारू गाय (साहिवाल, गिर, थरपारकर, रेड सिंधी) पाल रहे हैं, वे अपना नॉमिनेशन पत्र ऑनलाइन भर सकते हैं. निर्धारित प्रपत्र में भरे आवेदन को सीधे DAHD/MHA के बेवसाइट  http://www.dahd.nic.in या www.mah.gov.in  पर अपलोड कर सकते हैं या ऑनलाइन भी आवेदन कर सकते हैं.

advt

ऑनलाइन आवेदन करने में दिक्कत होने की स्थिति में पशुपालक संबंधित जिलों के जिला गव्य विकास कार्यालय में जाकर मदद ले सकते हैं. आवेदन करने की अंतिम स्थिति 15 अक्टूबर तक तय की गयी है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: