JharkhandLead NewsRanchi

बजट पूर्व वित्त मंत्री को चैंबर प्रतिनिधियों ने दिया सुझाव, कहा- बिजनेस सेंटर स्थापित हो

Ranchi : वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव की बजट पूर्व संगोष्ठी में चैंबर ऑफ कॉमर्स प्रतिनिधियों ने सुझाव दिये. इस दौरान चैंबर अध्यक्ष किशोर मंत्री ने राज्य के पांचों प्रमंडल में बिजनेस ट्रेड सेंटर स्थापित किये जाने की मांग की. यह भी कहा कि राज्य में बंद पड़ी खदानों को शीघ्र खोलने की पहल हो. इससे सरकार को सालाना 10 हजार करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त होगा. झारखंड में लोहे पर आधारित उद्योगों को प्रति माह लाखों टन लौह अयस्क की आवश्यकता पड़ती है. जिसकी वर्तमान कीमत करोड़ों रुपये है. रॉयल्टी और जीएसटी मिला कर करोड़ों रुपये राज्य सरकार प्राप्त कर सकती है, लेकिन खदानें बंद होने के कारण सरकार को इस लाभ से वंचित होना पड़ रहा है. उद्योगों की आवश्यकता के लिए अयस्क दूसरे प्रदेशों से मंगाना पड़ता है, जिस कारण राज्य का पैसा अन्य राज्यों में चला जा रहा है.

चैंबर द्वारा यह भी सुझाया गया कि वित्तीय वर्ष 2023-24 के बजट में शिक्षा व स्वास्थ के क्षेत्र में बजट में वृद्धि की जाये. राज्य में उच्च तकनीकी शिक्षण संस्थानों के अभाव में राज्य के विद्यार्थी अन्य राज्यों में जाकर शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं. जिस कारण राज्य से प्रतिभा पलायन तो हो रहा है. वहीं,  गंभीर बीमारियों के उच्च कोटि के ईलाज की सुविधा नहीं होने के कारण राज्य के लोग वेल्लोर सहित अन्य प्रदेशों में ईलाज के लिए जाते हैं. जिस कारण हेल्थ सेक्टर का पैसा भी अन्य राज्यों में जा रहा है.

चैंबर प्रतिनिधियों के सुझाव को महत्व देते हुए वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने मांगों पर विचार करने की बात कही. साथ ही राज्य सरकार के राजस्व संग्रह में वृद्धि के अन्य विकल्पों पर भी सुझाव आमंत्रित किया. जिस पर चैंबर अध्यक्ष ने अन्य सुझावों से जल्द ही अवगत कराने के लिए आश्वस्त किया.

इसे भी पढ़ें – Palamu : हिंडालको के कठौतिया माइंस में विस्फोट से किशोर की मौत, जीएम समेत 10 पर नामजद एफआइआर

Related Articles

Back to top button