JharkhandRanchi

चेंबर ने जरेडा की निविदा पर जतायी चिंता, कहा- अव्यावहारिक शर्त से राज्य के छोटे उद्यमियों को नहीं मिलेगा मौका

Ranchi : जरेडा द्वारा सरकारी भवनों में सोलर प्लांट लगाने के लिए निविदा जारी की गयी है. चेंबर ने इस पर चिंता जतायी है. कहा है कि टेंडर में अव्यावहारिक शर्त से राज्य के छोटे व लघु उद्योगों के समक्ष कठिनाईयां खड़ी हो गयी हैं. फेडरेशन ऑफ झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज ने इस संबंध में ऊर्जा विभाग के सचिव को पत्र भी लिखा है. टेंडर पर अविलंब रोक लगाने का आग्रह किया है. चेंबर अध्यक्ष धीरज तनेजा ने कहा कि विगत कई वर्षों से जरेडा द्वारा कार्य करवाने में राज्य के एमएसएमई को झारखंड प्रोक्योरमेंट पॉलिसी के तहत ईएमडी एवं टेंडर फी में छूट दी जाती रही थी. इसके फलस्वरूप बडी संख्या में राज्य के छोटे उद्यमी लाभान्वित हो रहे थे. राज्य के लोगों को रोजगार उपलब्ध हो रहा था. किंतु वर्तमान में जरेडा द्वारा निर्गत नयी निविदा में नये नियम लाये गये हैं जिसमें कहा गया है कि ‘वैसे उद्यमी जो सोलर पैनल, बैटरी या इन्वर्टर की मैनुफैक्चरिंग करते हैं, उन्हें ही प्रोक्योरमेंट पॉलिसी के तहत लाभ मिलेगा’. निविदा के इस प्रावधान से राज्य के एक ही उद्योग को फायदा होगा. अभी तक कार्यरत 150 से अधिक उद्यमी को इस कारण अतिरिक्त वित्तीय बोझ का सामना करना पड़ेगा. निविदा में पात्रता के लिए कम से कम 7.5 लाख रुपये का एक छोटे उद्यमी पर बोझ आयेगा. सरकार इस पर ध्यान दे.

बैठक में चेंबर अध्यक्ष के अलावा उपाध्यक्ष राहुल साबू, दीनदयाल बरनवाल, महासचिव राहुल मारू, सह सचिव रोहित अग्रवाल, विकास विजयवर्गीय, कार्यकारिणी सदस्य अमित शर्मा भी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – दिवाली पर सिर्फ 500 रुपये में जिओफोन नेक्सट देगी Reliance Jio, जानें कैसे करें बुकिंग

Catalyst IAS
ram janam hospital

Related Articles

Back to top button