NEWS

चेंबर चुनाव: पक्ष विपक्ष तैयार, लगाने लगे चेंबर सदस्य एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप

Ranchi: फेडरेशन ऑफ झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स एडं इंडस्ट्रीज के वार्षिक चुनाव को कुछ दिन ही रह गये हैं. नोमिनेशन हो चुकी है. 27 अगस्त को प्रत्याशी अपने नाम वापस ले सकते हैं. चुनाव में किशोर मंत्री और कुणाल आजमानी के बीच मुकाबला है. अंशकाओं के बीच किशोर मंत्री ने टीम का गठन कर नोमिनेशन भी किया. लेकिन इसके साथ ही आरोप प्रत्यारोप भी शुरू हो चुके हैं. कुणाल आजमानी की टीम में जहां अलग पहचान है, वहीं किशोर मंत्री टीम के 21 में से 13 लोग नये हैं. टीम कुणाल के कुछ सदस्यों का इस संबध में कहना है कि चेंबर चुनाव में ऐसे लोगों को चुनाव में शामिल होना चाहिये जो अनुभवी हो. नये लोगों में अनुभव की कमी होगी. किशोर मंत्री ने इसका जवाब भी दिया है.

इसे भी पढ़ेंः गोमिया में सात किमी तक चारपाई से कंधे पर ले गये मरीज, नहीं आया 108 नं का सरकारी एंबुलेंस

कुणाल ने कहा कुछ लोग चुनाव में नजर आते है

चुनाव में किशोर मंत्री और उनकी टीम के बारे में कुणाल आजमानी ने कहा कि कुछ ऐसे लोगों को चुनाव में शामिल किया गया है कि जो पहली बार चुनाव में शामिल हो रहे हैं. और जिन्हें व्यापार की सही जानकारी भी नहीं है. चेंबर एक महत्वपूर्ण संस्था है ऐसे में अनुभव जरूरी है. कुछ लोग तो ऐसे भी है जो सिर्फ चुनाव में नजर आते है. सालों भर चेंबर में नजर नहीं आते. उन्होंने कहा कि टीम कुणाल में जो भी हैं वो काफी अनुभवी हैं और व्यापार जगत में उनकी पहचान है. टीम कुणाल की ओर से नोमिनेशन के साथ ही अभियान शुरू कर दिया गया.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ेंः रानीगंजः सिख समाज ने किया ऐलान- मृत्यु भोज प्रथा को बंद किया जायेगा    

जाने माने लोगों के बीच घुम रही चेंबर की कुर्सियां

वहीं किशोर मंत्री का कहना है कि चेंबर में पिछले कुछ सालों से कुर्सियां कुछ खास लोगों की हो जा रही हैं. चेंबर में एक ग्रुप बना लिया गया है. उसी ग्रुप के लोग चेंबर की कुर्सी पर काबिज हैं. ऐसे में मेरी टीम में 13 नये लोगों को शामिल करना गलत नहीं है. आठ ऐसे लोग भी हैं जो पहले चुनाव में शामिल हो चुके हैं. उन्होंने कहा कि लोगों को यह समझना होगा कि चेंबर में पैसे से सीट नहीं मिलेगी, काम करना भी जरूरी है. लोग व्यापार हित में काम करने के लिए इस पद में आते हैं. लेकिन गुट बनाकर लोग मनमानी करते हैं. किशोर मंत्री की टीम ने भी व्यापारियों से मिल कर अभियान चलाना शुरू कर दिया है.

किसके एजेंडे में क्या है

कुणाल आजमानी के एजेंडा में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस, सरकार के साथ व्यापारियों का संवाद दुरूस्त करने, चेंबर को सरकार के सामने और मजबूत करने, एसटी एससी व्यापारियों को चेंबर से जोड़ने, चतरा और महगामा की तरह सुदूर क्षेत्रों के व्यापारियों को चेंबर से जोड़ने, सिंगल विंडो सिस्टम को दुरूस्त करने और तरह तरह के लाइसेंस प्रक्रिया को सरल करने समेत अन्य एजेंडे शामिल है. वहीं किशोर मंत्री टीम ने अब तक कोई सटीक एजेंडा नहीं बनाया है. लेकिन नये नये व्यापारियों को चेंबर से जोड़ने, सिंगल विंडो सिस्टम को दुरूस्त करने, सड़क व्यवस्था दुरूस्त करने  समेत अन्य एजेंडे शामिल किये जा सकते हैं. किशोर मंत्री ने जानकारी दी कि उनकी टीम का एजेंडा मंगलवार तक तैयार हो जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः लातेहार : ग्रामीणों की शिकायत, हर माह गरीबों का 20 क्विंटल अनाज खुद डकार रहा डीलर

Related Articles

Back to top button