न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चेंबर चुनाव: शनिवार को वार्षिक आमसभा, मतदान रविवार को

111

Ranchi : चेंबर के नयी कार्यकारिणी चुनने का दिन नजदीक आ चुका है. सिर्फ एक दिन का इंतजार और उसके बाद नयी कार्यकारिणी सदस्यों के चेहरे सामने आएंगे. चुनाव हरमू रोड स्थित मारवाड़ी भवन में होगा, इसके लिए मारवाड़ी भवन को पूरी तरह तैयार कर लिया गया है. चुनाव से पूर्व चेंबर सदस्यों की वार्षिक बैठक आयोजित की जाती है, इसे एजीएम की बैठक के नाम से जाना जाता है. जो शनिवार को आयोजित की जागेगी. सुबह 11 बजे से बैठक शुरू होगी. झारखंड चेंबर आॅफ काॅमर्स की 54वीं वार्षिक आमसभा चेंबर भवन में आयोजित होगी. इस बैठक में झारखंड प्रदेश के व्यापारी, उद्यमी प्रोफेशनल्स के अलावा कई गणमान्य लोग उपस्थित रहेंगे. वहीं राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार बतौर मुख्य अतिथि बैठक में सम्मिलित होंगे.

इसे भी पढ़ें : IAS, IPS और टेक्नोक्रेटस छोड़ गये झारखंड, साथ ले गये विभाग का सोफासेट, लैपटॉप, मोबाइल,सिमकार्ड और आईपैड

सभी मतदाताओं से मतदान करने की अपील

चुनाव पदाधिकारी ललित केडिया एवं अंचल किंगर ने सभी मतदाताओं से अपने मताधिकार का प्रयोग करने की अपील की है. मालूम हो कि सत्र 2018-19 का चुनाव रविवार को किया जाएगा. मतदान मारवाडी भवन में सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक चलेगा. चुनाव पदाधिकारी ने बताया कि इस बार का चुनाव पेपरलेस होगा. पहली बार चेंबर चुनाव इलेक्ट्रॉनिक प्रक्रिया से संपन्न होगी. मतगणना भी 16 सितंबर को ही पूरी कर ली जाएगी. केडिया ने बताया कि मतदान स्थल पर चुनावी उम्मीदवारों के साथ उनके समर्थकों को खड़े होने की इजाजत नहीं दी जाएगी.

इसे भी पढ़ें : घुटन में माइनॉरटी IAS ! सरकार पर आरोप- धर्म देखकर साइड किए जाते हैं अधिकारी

एजीएम की बैठक गतिविधियों को बताने का मंच : गाड़ोदिया

चेंबर अध्यक्ष रंजीत गाड़ोदिया ने कहा कि चेंबर की वार्षिक आमसभा हमारी गतिविधियों को बताने का केंद्र बिंदु है. इस अवसर पर राज्य के समस्त व्यापारी व उद्यमी एकत्रित होते हैं और अपने बहुमूल्य सुझावों से चैंबर को अवगत कराते हैं. प्रदेश के आर्थिक विकास में व्यापारियों की काफी महत्ता है और ऐसे में एक विशाल महासंगठन के सदस्य इस दिशा में अपनी परस्पर भूमिका निभाते हैं. हमारे लिए यह गौरवमयी क्षण है. उन्होंने कहा कि वार्षिक आमसभा के दिन चेंबर की स्थापना दिवस भी है.

इसे भी पढ़ें : पुलिस महकमे के एक खास वर्ग का नौकरशाही में वर्चस्व, राष्ट्रपति से शिकायत

1960 में हुई थी चेंबर की स्थापना

15 सितंबर 1960 को चेंबर की स्थापना हुई थी. तब से लेकर आज तक राज्य के विकास में व्यापारियों व उद्यमियों के विकास में और जनहित की समस्याओं के समाधान में चेंबर सशक्त भूमिका निभाता रहा है. चेंबर का पिछले 58 वर्षों का इतिहास काफी सुनहरा रहा है. इन 58 वर्षों में चेंबर में निर्वाचित होकर आनेवाले सभी पदाधिकारियों का साकारात्मक प्रयास रहा है. जिससे आज हमारे संगठन की महत्ता बढ़ी है. हमारा प्रयास राज्य के विकास में सरकार के साथ मिलकर कार्य करना है ताकि राज्य के विकास के साथ-साथ राज्य के व्यापार व उद्योग जगत का भी विकास सुनियोजित ढंग से हो सके.

इसे भी पढ़ें : पत्रकार से जाति विशेष बातचीत के दौरान IPS  इंद्रजीत महथा ने अपने जूनियर-सीनियर अफसरों को भला-बुरा कहा

स्थापना दिवस को लेकर की गयी विशेष तैयारियां

चेंबर की स्थापना दिवस के अवसर पर महासचिव कुणाल अजमानी ने प्रदेश के सभी व्यापारी एवं उद्यमी समाज को बधाई दी. उन्होंने कहा कि वार्षिक आमसभा के दौरान राज्य के प्रायः सभी जिलों के व्यापारी व उद्यमी समुदाय चेंबर भवन में एकत्रित होंगे. स्थापना दिवस को लेकर विशेष तैयारियां की गयी है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: