ChaibasaCorona_UpdatesJharkhand

चक्रधरपुर रेलवे कोविड अस्पताल का हालः मरीजों को खुद साफ करना पड़ रहा बाथरूम, डॉक्टर रहते हैं गायब

Chakradharpur: पश्चिमी सिहभूम जिले में स्थित चक्रधरपुर रेलवे कोविड अस्पताल में अव्यवस्था को लेकर मरीज लगातार शिकायत कर रहे हैं. मरीजों ने आरोप लगाया है कि चक्रधरपुर के रेलवे कोविड हॉस्पिटल में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है पर यहां पर कोरोना मरीजों की उचित देखभाल नहीं की जाती है ना ही किसी को कोई परवाह है.

मरीजों के अनुसार, खानापूर्ति के लिए विटामिन की दवाई दी गयी है. पर तबीयत पूछने कोई नहीं आता है. डॉक्टर लगातार गायब रहते हैं. नर्स देखभाल सही से नहीं करतीं. दोबारा जांच के लिए दस दिन हो जाने के बाद भी सैंपल नहीं लिया जाता.

मरीजों ने आरोप लगाया कि अव्यवस्था इतनी है कि साफ-सफाई भी सही से नहीं होती. मरीजों ने  आरोप लगाया है कि मरीज खुद ही रूम, बाथरूम की सफाई करते हैं. कचरे का भी कोई इंतजाम नहीं है.

Catalyst IAS
SIP abacus

इसे भी पढ़ें – एसबीआइ के अर्थशास्त्रियों का अनुमान- भारत के हर व्यक्ति को 27-40 हजार रुपये का नुकसान

MDLM
Sanjeevani

मरीजों का आरोप- बचाव के लिए नहीं है कोई व्यवस्था

चक्रधरपुर रेलवे कोविड अस्पताल का हालः मरीजों को खुद साफ करना पड़ रहा बाथरूम, डॉक्टर रहते हैं गायबमरीजों ने आरोप लगाया है कि मरीजों का कचरा जानवर ही चरते हैं. संक्रमित मरीजों के कचरे से जानवरों में भी संक्रमण फैल सकता है. मरीजों ने कहा कि नर्स और सफाईकर्मी जान बूझ कर अनदेखी करते हैं.

मरीजों ने यह भी आरोप लगाया कि उन्हें तीन दिन रहने बोलकर लाया गया था, पर दस-दस दिन अभाव में रखा जा रहा है. किसी तरह की जांच नहीं की जा रही है. मरीजों ने बताया कि वे बहुत सहमे हुए हैं और जिला स्वास्थ्य विभाग उनकी कोई सुध नहीं ले रहा है.

इसे भी पढ़ें –गिरिडीह के DEO कार्यालय में तैयार हुई थी स्किल इंडिया के फर्जी प्रशिक्षक की बहाली की पटकथा

रिम्स से भी लगातार आ रही है शिकायत

चक्रधरपुर रेलवे कोविड अस्पताल का हालः मरीजों को खुद साफ करना पड़ रहा बाथरूम, डॉक्टर रहते हैं गायबअव्यवस्था की शिकायत सिर्फ ग्रामीण क्षेत्रों और जिलों से नहीं आ रही है बल्कि रिम्स से भी शिकायतें मिल रही हैं. रिम्स में अव्यवस्था की शिकायत के बाद मुख्यमंत्री ने  स्वास्थ्य विभाग को जांच के आदेश भी दिये थे.

दूसरी बार रिम्स में डॉक्टर ने खुद ऑक्सीजन नहीं मिलने की शिकायत की थी. रिम्स में ही एक कोरोना मरीज की बाथरूम में गिर जाने से मौत भी हो गयी थी.

इसे भी पढ़ें – ग्रामीण विकास विभाग ने बनायी योजना, 16 सितंबर तक 10 लाख मजदूरों को मिलेगा रोजगार

13 Comments

  1. Link exchange is nothing else except it is simply placing the other person’s website link on your page at appropriate place and otherperson will also do similar for you.

  2. Its like you learn my thoughts! You seem to graspso much about this, like you wrote the e book in it or something.I feel that you could do with a few p.c. to power the message house a little bit, but instead of that, thatis excellent blog. A great read. I’ll certainly beback.

  3. I love looking through a post that can make people think. Also, many thanks for permitting me to comment!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button