1st LeadChaibasaCrime NewsJharkhandLead NewsTODAY'S NW TOP NEWSTOP SLIDERTop Story

Chaibasa : एक महीने से सात छात्राओं का शोषण कर रहा था प्रिंसिपल, एक बच्ची के बताने पर हुआ हैवानियत का पर्दाफाश, गया जेल   

Chaibasa : पश्चिमी सिंहभूम जिला के गोइलकेरा प्रखंड स्थित प्रतिष्ठित तारा पब्लिक स्कूल के प्राचार्य नरेंद्र दत्ता पर सात नाबालिग छात्राओं के साथ छेड़छाड़ शारीरिक शोषण का आरोप लगा है. पीड़ित बच्चियों ने प्रिंसिपल के खिलाफ गलत हरकत करने का आरोप लगाते हुए गोइलकेरा थाना में मामला दर्ज कराया है. इस मामले में शनिवार को चाईबासा कोर्ट में पीड़ित बच्चियों का 164 के तहत बयान दर्ज किया गया. इसके बाद पुलिस ने आरोपी प्राचार्य को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.  हालांकि पहले थाना ने एफआइआर करने से इनकार कर दिया था, लेकिन एसपी को मामले की जानकारी देने के बाद शुक्रवार देर रात प्राचार्य के खिलाफ भादवि की धारा 354 और अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया. पुलिस ने आरोपी प्राचार्य नरेंद्र दत्ता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

एक महीने से शोषण कर रहा था प्राचार्य

सभी पीड़ित नाबालिग  छात्राओं ने कहा है कि तारा पब्लिक स्कूल के प्राचार्य नरेंद्र दत्ता पिछले करीब एक महीने से हॉस्टल में रहनेवाली छात्राओं के साथ गलत हरकत कर रहे थे. प्रिंसिंपल रोज एक छात्रा को बुला कर अश्लील वीडियो दिखाते थे और कपड़े उतार कर शरीर से छेड़छाड़ और अश्लील हरकतें करते थे. एक्स्ट्रा क्लास और ट्यूशन के बहाने प्राचार्य बच्चियों को घर नहीं जाने देते थे. यहां तक कि प्राचार्य ने बच्चियों को परिजनों को गर्मी की छुट्टी में भी उन्हें घर ले जाने नहीं दिया था. एक छात्रा के परिजन जब उसे घर ले गये, तो छात्रा ने प्राचार्य की हरकतों की जानकारी दी. परिजनों ने जब प्राचार्य से पूछताछ की, तो मामला खुलता गया और कुल मिलाकर सात  नाबालिग छात्राओं ने सामने आकर कहा कि उनके साथ प्राचार्य ऐसी ही हरकत करते हैं. इसके बाद कुछ परिजन मामला दर्ज कराने पहुंचे, लेकिन गोइलकेरा थाना की पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया. इसके बाद इसकी जानकारी स्थानीय पीएलवी सदस्य ने जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव राजीव कुमार सिंह को दी गयी. एसपी तक मामला पहुंचने के बाद देर रात प्राचार्य के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराया गया. एफआइआर की कापी विधिक सेवा के सचिव को दी गयी. इसके बाद शनिवार को पीड़ित छात्राओं का चाईबासा कोर्ट में 164 के तहत बयान दर्ज कराया गया.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें – मांडर उपचुनावः मतदाताओं को रिझाने में लगी राजनीतिक पार्टियां, गिना रही है अपनी अपनी खूबियां

 

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

Related Articles

Back to top button