ChaibasaJharkhand

Chaibasa : चाईबासा जिला विधिक सेवा प्राधिकार ने किया प्रभात फेरी का आयोजन, संविधान के महत्व को दर्शाया

Chaibasa : झारखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकार पश्चिमी सिंहभूम के तत्वावधान में प्राधिकार के अध्यक्ष सह प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश विश्वनाथ शुक्ला के नेतृत्व में आज प्रातः व्यवहार न्यायालय परिसर से संविधान के महत्व को दर्शाते प्रभात फेरी निकाली गई. प्रभात फेरी में व्यवहार न्यायालय के न्यायिक पदाधिकारीगण योगेश्वर मणि, प्रधान न्यायाधीश कुटुंब न्यायालय, ओम प्रकाश, जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रथम, सूर्य भूषण ओझा, जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वितीय, विनोद कुमार, अपर मुख्य न्यायायिक दंडाधिकारी, मिलन कुमार अनुमंडल न्यायिक दंडाधिकारी पोड़ाहाट, तौसीफ मेराज अनुमंडल न्यायिक दंडाधिकारी सदर सह रजिस्ट्रार, राजीव कुमार सिंह सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकार, एलएडीसी के सदस्य, अधिवक्ता, पैनल अधिवक्ता, सिविल कोर्ट के कर्मचारीगण, विधिक स्वयंसेवक आदि सम्मिलित हुए. प्रभात फेरी पोस्ट ऑफिस चौक और सदर बाजार होते हुए वापस व्यवहार न्यायालय में आकर समाप्त हुई. इस दौरान पोस्टर्स और प्ले कार्ड के द्वारा संविधान के महत्व को भी दर्शाया गया था. प्राधिकार के सचिव राजीव कुमार सिंह ने बताया कि भारत का संविधान हमारे गणराज्य का सर्वोच्च लिखित विधान है, जो संविधान सभा द्वारा 26 नवम्बर 1949 को पारित हुआ तथा 26 जनवरी 1950 से प्रभावी हुआ। यह दिन (26 नवम्बर) भारत के संविधान दिवस के रूप में घोषित किया गया है। नालसा के निर्देशानुसार संविधान सप्ताह ( 26 नवंबर से 2 दिसंबर ) के दौरान प्रतिदिन भारतीय संविधान की मूल विशेषता को दर्शाते हुए ऐसे जागरूकता कार्यक्रम को आयोजित किया जाना है, जिसे आम लोगों में संविधान के प्रति समझ बढ़ सके.

Related Articles

Back to top button