ChaibasaJharkhandTODAY'S NW TOP NEWS

चाईबासाः कस्तूरबा गांधी आवासीय स्कूल से भागी 76 छात्राएं, शिक्षा विभाग में हड़कंप

Chaibasa: पश्चिम सिंहभूम के मझगांव प्रखंड में संचालित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की 76 छात्राएं बुधवार की सुबह परेड के लिए निकली और चुपचाप भाग गई हैं. एक साथ 76 छात्राओं के बगैर किसी सूचना के इस तरह से फरार हो जाने से शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया है. हालांकि, मामले की जानकारी के बाद खोजबीन में जुटी पुलिस ने 11 लड़कियों को ढूंढ निकाला और वापस स्कूल लेकर आयी. जबकि बाकी लड़कियों की तलाश जारी है.

इसे भी पढ़ेंःटंडवा में बदल गया लेवी वसूली का तरीका, कंपनी से मिलकर भाड़े में ही कर दी 205 रुपये प्रति टन की बढ़ोत्तरी

शिक्षकों को हटाने का विरोध

Catalyst IAS
ram janam hospital

वही विद्यालय की वार्डन संगीता कुमारी ने लड़कियों के इस तरह से भागने की सूचना मझगांव थाना, बीडीओ और जिला शिक्षा विभाग को दी है. मिली जानकारी के मुताबिक, शिक्षा विभाग ने मैट्रिक में खराब प्रदर्शन के लिए जिम्मेदार अनुबंधित शिक्षकों को हटाने का आदेश दिया है. इसी के तहत कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय मझगांव के 4 शिक्षक-शिक्षिकाओं को हटाने का नोटिस विद्यालय प्रबंधन को मिला है. जबकि छात्राएं संबंधित शिक्षकों के समर्थन में हैं. शिक्षकों को हटाने का विरोध करते हुए छात्राएं अपने अपने घर चली गई हैं.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

इसे भी पढ़ेंःशर्मसार स्वास्थ्य विभाग : कहीं बेटे का शव तो कहीं सर्पदंश की शिकार बेटी को गोद में उठाए दिखे बेबस पिता

विद्यालय लौटी एक छात्रा ने बताया कि कस्तूरबा गांधी विद्यालय में शिक्षकों की कमी है. वही विद्यालय की वार्डन ने अंग्रेजी, गणित और विज्ञान के शिक्षकों को हटाने का नोटिस दिया है. शिक्षकों को हटाए जाने से नाराज होकर और वार्डेन का विरोध करते हुए उन लोगों ने विद्यालय से भागने का निर्णय लिया. लड़कियों का कहना है कि पहले से ही स्कूल में शिक्षकों की कमी है, ऊपर से शिक्षा विभाग ने चार शिक्षक-शिक्षिकाओं को हटाने का आदेश दे दिया. जिसके चलते कई शिक्षकों ने विद्यालय आना बंद कर दिया है. इस वजह से विद्यालय में पढ़ाई नही हो रही है. जब पढ़ाई नहीं हो रही है तो विद्यालय में रहने क्या मतलब है. इस वजह से वो लोग स्कूल छोड़कर भाग रही थी.

इसे भी पढ़ेंःमसानजोर डैम पर झारखंड-बंगाल में बढ़ता तनाव, मंत्री लुइस के बाद भाजयुमो अध्यक्ष की ममता सरकार को दो टूक

छात्राओं को वापस लाने का हो रहा प्रयास- वार्डेन

कस्तूरबा आवासीय विद्यालय की वार्डेन ने कहा कि बुधवार की सुबह छात्राएं बिना सूचना दिए सुबह 5:30 जब विद्यालय का गेट खुला तो दौड़ते हुए निकलकर भागने लगीं. 11 छात्राओं को वापस विद्यालय किसी प्रकार लाया गया है. सभी दसवीं की छात्राएं हैं. दरअसल, शिक्षा विभाग से दो दिन पूर्व लिखित आवेदन भेजा गया है. इसमें आदेश है कि अनुबंधित शिक्षक शम्स तबरेज, पूनम मौलिक, मंजू बिरुवा व बंजा तेलंगना हो हटाकर नए शिक्षक-शिक्षिकाओं की बहाली की जाए. इस आदेश के बाद से ही कुछ शिक्षकों ने विद्यालय उसी दिन से आना बंद कर दिया. पढ़ाई में हो रही परेशानी के बीच 76 छात्राओं ने भागने का निर्णय सामूहिक तौर पर लिया. सभी छात्राओं को खोजकर वापस लाने का प्रयास किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंःलोहरदगाः अंतिम यात्रा के लिए भी करनी पड़ती है मशक्कत, सड़क की हालत बदत्तर

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Related Articles

Back to top button