न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सेंट्रल यूनिवर्सिटी झारखंड : ऑल इंडिया टेस्ट से भरी मात्र 50 फीसदी सीटें, अब वॉक इन एडमिशन से दाखिला

298

Ranchi: राज्य के सेंट्रल यूनिवर्सिटी के प्रति छात्रों का रुझान कम होता दिख रहा है. यहां के पीजी कोर्स में नामांकन के लिए हुई अखिल भारतीय स्तर की परीक्षा के बाद भी सीटें नहीं भरीं. अखिल भारतीय स्तर की परीक्षा सीयूसेट -2019 से 50 फीसदी से भी कम नामांकन हुआ है. सेंट्रल यूनिवर्सिटी के 27 पीजी डिपार्टमेंट में 424 सीटें खाली रह गयी हैं. जिन्हें अब वॉक इन एंट्रेंस के जरिए भरने की तैयारी चल रही है. इसके लिए विवि ने विज्ञापन भी निकाला है.

इसे भी पढ़ें – जियो फाइबर के लिए बहुत चालाकी के साथ रास्ता साफ किया गया

सीयूसेट से होना था दाखिला

देशभर की सेंट्रल यूनिवर्सिटी में प्रवेश के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा ली जाती है. इसके बाद काउंसिलिंग का आयोजन होता है. लेकिन शैक्षणिक सत्र 2019-20 में काउंसिलिंग की प्रक्रिया के खत्म हो जाने के बाद भी 50 फीसदी नामांकन भी नहीं हो पाया है. विवि के सभी पीजी कोर्स में विषयवार 40 सीटें निर्धारित हैं. खाली रह गयी सीटों में सबसे ज्यादा सीटें पीजी हिंदी, पीजी पोलिटिकल साइंस, पीजी प्राचीन भारतीय इतिहास व पुरातत्व व मास्टर ऑफ कॉमर्स में हैं. इसमें हिंदी में 33, पोलिटिकल साइंस में 30, इतिहास में 44 व एम कॉम में 26 सीटें हैं.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में छोटे-बड़े आपराधिक गैंग वसूल रहे हैं रंगदारी, रांची सहित राज्य के अन्य जिलों से भी हर महीने उठा रहे मोटी रकम

21 अगस्त को होगा स्पॉट एंट्रेंस

SMILE

विवि की ओर से जारी नोटिस के अनुसार 21 अगस्त को स्पॉट एडमिशन टेस्ट लिया जायेगा. इस एंट्रेंस टेस्ट के जरिए बीएड, एमए, एलएलएम, एमएससी व एमकॉम कोर्स में नामांकन लिया जायेगा. एंट्रेंस टेस्ट में शामिल होने के लिए सेंट्रल यूनिवर्सिटी कैंपस में सुबह 9 बजे से एंट्रेंस फॉर्म भर कर जमा होगा. इसके बाद 11 बजे से 1 बजे तक टेस्ट लिया जायेगा. टेस्ट का रिजल्ट 22 अगस्त को जारी किया जायेगा. ऑन स्पॉट एंट्रेंस में शामिल होने के लिए सामान्य व ओबीसी श्रेणी के उम्मीदवारों को 200 रुपये व आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को 100 रुपये देने होंगे.

इन विषयों में खाली हैं सीटें

बीएड में 2, ट्राइबल एंड कस्टमरी लॉ/ह्यूमन राइट्स में 17, ट्राइबल लॉ एंड गर्वनेंस में 15, एंथ्रोपोलॉजी व ट्राइबल लॉ में 17, इंगलिश में 12, हिंदी में 33, मास कॉम में 19, परफॉर्मिंग आर्ट में 38, पॉलिटिकल साइंस में 30, कंप्यूटर साइंस में 15, ट्रांसपोर्ट साइंस में 06, एंसिएंट हिस्ट्री में 44, फॉक्लोर में 17, एम कॉम में 26, जियो इंफोर्मेटिक्स में 12, एनवार्यमेंटल साइंस में 18, लाइफ साइंस में 05, फिजिक्स में 6, केमिस्ट्री में 06, मैथेमेटिक्स में 08, एनर्जी इंजीनियरिंग में 09, नैनो टेक्नोलॉजी में 18, वाटर एनर्जी में 12, व पीजी डिप्लोमा के दो कोर्स में 39 सीटें खाली रह गयी हैं.

इसे भी पढ़ें – धनबाद के इंस्पेक्टर नवल को राष्ट्रपति पुलिस पदक, चार शहीदों को वीरता पदक

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: