न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

केंद्रीय विश्वविद्यालयः कैंटीन की निविदा में भारी गड़बड़ी

144
  • हॉस्टल मेस चलाने का जिम्मा मिला दुलाल सेन को
  • पूर्व से काम कर रही एजेंसी को नियम विरुद्ध दिया गया कार्यादेश
  • 2.70 करोड़ के टेंडर में दूसरी एजेंसियों को नहीं दी गयी तरजीह

Ranchi: केंद्रीय विश्वविद्यालय झारखंड में हॉस्टल मेस चलाने की ई-निविदा में गड़बड़ी की शिकायत मिलने के बाद चयन समिति ने दुलाल सेन को कार्यादेश निर्गत कर दिया है. 27 सौ रुपये प्रति छात्र की दर से खड़गपुर के दुलाल सेन को समझौता करने को कहा गया है. विश्वविद्यालय के कुलसचिव हरि कुमार ने 20 दिसंबर 2018 को पत्रांक संख्या 1610 के जरिये औपचारिकताएं पूरा करने को कहा है.

क्या था मामला

केंद्रीय विश्वविद्यालय की तरफ से एक हजार छात्रों के मेस के संचालन को लेकर तीन अक्तूबर 2018 को निविदा आमंत्रित की थी. 25 अक्तूबर को निविदा के तहत आवेदन देने की अंतिम तिथि थी. निविदा को खोलने की तिथि 29 अक्तूबर तय की गयी थी. जबकि एक नवंबर को वित्तीय आवेदन खोलने की तिथि निर्धारित थी. पर निविदा समिति की ओर से 20 दिसंबर को ही खड़गपुर की कंपनी मेसर्स दुलाल सेन का चयन कर लिया.

किसी को बुलाया ही नहीं गया, आवेदकों ने की शिकायत

आशीर्वाद हास्पीटलिटी प्राइवेट लिमिटेड, साई ए वन सर्विसेज लिमिटेड और श्री देवी केटरर्स को तकनीकी बिड खोलने के समय बुलाया ही नहीं गया. इस संबंध में जय बाबा बासुकी कैटरिंग और हाउसकीपिंग सर्विसेज की ओर से शिकायत भी की गयी कि केंद्रीय विश्वविद्यालय की तरफ से निविदा की तय तिथियों के अनुरूप काम नहीं किया. इसमें यह भी कहा गया है कि निविदा क्रमांक 2018-सीयूजे-390405-1 द्वारा मंगाये गये आवेदन में दूसरे आवेदकों को बगैर बुलाये ही डिस्कवालिफाई कर दिया गया. जय बाबा वासुकी की शिकायत में यह भी कहा गया है कि दुलाल सेन पहले से ही मेस का काम देख रहे थे. इसलिए 2019 के लिए भी उनका ही चयन किया गया है.

इसे भी पढ़ें – राजस्व उप निरीक्षकों की हड़ताल समाप्त, 26 से लौटेंगे काम पर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: