Corona_UpdatesLead NewsNational

Central paramilitary forces पर भी कोरोना की दूसरी लहर का बरपा कहर, 3 हजार से अधिक पॉजिटिव केस

बीएसएफ में सबसे ज्यादा 1850 एक्टिव केस मिले

New Delhi : तेजी से फैल रही कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के जवान और अधिकारी भी चपेट में आने लगे हैं. पिछले साल कोरोना संक्रमण की शुरुआत से लेकर अब तक का आंकड़ा देखा जाए तो यह संख्या 60 हजार के पार पहुंचने वाली है.

गत वर्ष 14 सितंबर तक की बात करें तो बीएसएफ, सीआरपीएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी, एनएसजी और असम राइफल्स में कोरोना के पॉजिटिव केसों की संख्या 32338 थी. उसके बाद भी बीस हजार से अधिक जवान इस वैश्विक महामारी की चपेट में आ गए.

advt

इसे भी पढ़ें:मजदूरों की वापसी को ध्यान में रखते हुए पनवेल और हटिया के बीच चलेगी स्पेशल ट्रेन

बीएसएफ में पिछले 24 घंटे के दौरान 117 नए केस

उक्त सभी बलों में अभी तक 200 से अधिक जवान कोविड 19 संक्रमण की वजह से मारे गए हैं. मौजूदा समय में यानी कोरोना की दूसरी लहर में अभी तक तीन हजार से अधिक पॉजिटिव केस सामने आए हैं. बीएसएफ में सबसे ज्यादा केस हैं. इस बल में अभी तक 1850 एक्टिव केस देखने को मिले हैं. पिछले 24 घंटे के दौरान इस बल में 117 नए केस आए हैं. इसके साथ ही कोरोना संक्रमण से पीड़ित 87 जवान ठीक हो चुके हैं.

इसे भी पढ़ें:बंगाल चुनाव : रैलियों और रोड शो पर हाई कोर्ट की खिंचाई के बाद रेस हुआ चुनाव आयोग, एक ही चरण में होंगे चुनाव

आईसीएमआर ने गाइडलाइन जारी की हैं

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के जवानों को बचाने के लिए आईसीएमआर द्वारा गाइडलाइन जारी की गई हैं. सभी अर्धसैनिक बल इस बात को लेकर सावधानी बरत रहे हैं कि किसी यूनिट में बाहर से कोई पॉजिटिव केस न आने पाए.

इसके लिए उन सभी जवानों और अधिकारियों का यूनिट में पहुंचने से पहले कोविड टेस्ट किया जा रहा है, जो छुट्टी से या दूसरे क्षेत्रों में लगी ड्यूटी खत्म होने के बाद वापस आ रहे हैं.

कहीं पर कोई चूक न रह जाए, इसके लिए कहा गया है कि अपने घर से आने वाले जवानों को कोविड टेस्ट की रिपोर्ट साथ लानी होगी. इसके बाद यूनिट में फिर से उनका टेस्ट किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें :डॉ गिरिधारी राम गोंझू: झारखंड कर गोटेक अखरा निंदाय गेलक

सीआईएसएफ में संक्रमितों की संख्या 400 के पार

कोरोना की दूसरी लहर में पिछले 24 घंटे के दौरान 450 से ज्यादा पॉजिटिव केस सामने आए हैं. बीएसएफ के अलावा सीआईएसएफ में कोरोना के 43 नए मामले देखने को मिले हैं.

इस बल में अगर एक्टिव केसों की संख्या देखें तो वह संख्या लगभग 400 के पार जा चुकी है. देश के सबसे बड़े केंद्रीय अर्धसैनिक बल यानी सीआरपीएफ में ढाई सौ से अधिक एक्टिव केस हो गए हैं.

पिछले 24 घंटे के दौरान सीआरपीएफ में 30 और आईटीबीपी में 32 केस आए हैं. इसी तरह एसएसबी में दस और एनएसजी में 20 केस मिले हैं. बता दें कि गत वर्ष से लेकर अभी तक इन बलों में करीब 54 हजार जवान कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके हैं.

इसे भी पढ़ें :मधुपुर उपचुनाव : पुलिस चला रही वाहन चेकिंग अभियान

ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण से मौत पर 15 लाख की अतिरिक्त राशि

केंद्र सरकार ने पहले कहा था कि अगर इन बलों में किसी जवान की ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण से मौत हो जाती है तो उसके आश्रितों को 15 लाख रुपये की अतिरिक्त राशि प्रदान की जाएगी.

यह राशि ‘भारत के वीर’ फंड में से जारी होगी. इस राशि का बाकी के आर्थिक फायदों से कोई संबंध नहीं है. गत वर्ष 14 सितंबर तक बीएसएफ में 8934 कोविड केस, सीआरपीएफ में 9158, सीआईएसएफ में 5544, आईटीबीपी में 3380, एसएसबी में 3251, एनएसजी में 225 और असम राइफल्स में 1746 केस सामने आए थे.

इनमें बीएसएफ का रिकवरी रेट 80.41 फीसदी और सीआरपीएफ का 84.04 फीसदी रहा था. सीआईएसएफ में यह रिकवरी रेट 75.25 फीसदी और आईटीबीपी में 69.79 फीसदी था.

इसे भी पढ़ें :अस्पताल दर अस्पताल चक्कर काटते रहे परिजन, नागपुरी के विद्वान गिरधारी राम गौंझू ने तोड़ा दम

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: