न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

पार्टी विरोधी गतिविधियों को देख केंद्रीय नेतृत्व चाहता था इस्तीफा दें जलेश्वर महतो : जदयू महासचिव

43

Ranchi : जलेश्वर महतो के कांग्रेस पार्टी में शामिल होने के बाद झारखंड जदयू ने साफ किया है कि इससे पार्टी के सेहत पर कोई असर नहीं पड़ेगा. पिछले छह माह से जलेश्वर महतो पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहे थे. यहां तक की पार्टी के अंदर उनकी गतिविधि काफी कम हो गयी थी. ऐसे में जदयू ने पहले से ही पार्टी में न होना स्वीकार कर लिया था. रविवार को डिबडीह स्थित पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में जदयू के महासचिव सह मुख्यालय प्रभारी भगवान सिंह ने स्पष्ट कहा कि जलेश्वर महतो के पार्टी छोड़ने के बाद भी कार्यकर्ता आगामी चुनावों में पूरे शक्ति से लड़ाई लड़ेंगे. इस दौरान उन्होंने पार्टी के एनडीए में शामिल होने की बात को भी प्रमुखता से रखा.

eidbanner

कांग्रेस में शामिल हुए हैं जलेश्वर महतो

मालूम हो कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाने वाले और पूर्व मंत्री जलेश्वर महतो शनिवार को कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गये हैं. उनके जाने से जदयू को एक तगड़ा झटका माना जा रहा है. कांग्रेस में शामिल होने के बाद जलेश्वर महतो ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात भी की थी.

अन्‍य कार्यकर्ताओं के पार्टी छोड़ने पर लगाया विराम

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार के नेतृत्व में आस्था व्यक्त करते हुए पार्टी महासचिव ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता चुनावों को लेकर काफी समर्पित है. जलेश्वर महतो के बाद अन्य कार्यकर्ताओं के पार्टी छोड़ने के अटकलें पर विराम लगाते हुए कहा कि ऐसा कुछ नहीं है. पार्टी कार्यकर्ता, विभिन्न प्रकोष्ठों और जिला अध्यक्ष संगठन के प्रति समर्थित है. आने वाले समय में संगठन और मजबूती के साथ उभरेगा.

जलेश्वर के चरित्र की भी जानकारी हो जाएगी कांग्रेस को

उन्होंने कहा कि पिछले छह माह से जलेश्वर महतो पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहे थे. पार्टी के प्रदेश कार्यालय में उनका आवागमन कई दिनों से बंद हो गया था. केंद्रीय नेतृत्व को भी उनकी जानकारी थी. पार्टी चाहती है कि वे सम्मानजनक तरीके से अपना इस्तीफा दें. इसके उलट उन्होंने इस्तीफा न देकर सीधे दूसरे दल का दामन थाम लिया, जो कि उनके लिए सही नहीं है. कांग्रेस पार्टी में तो जलेश्वर महतो शामिल हो गये. अब कांग्रेस को भी उनका चरित्र का पता जल्द चल जाएगा.

एनडीए के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी पार्टी

एनडीए में शामिल होने की बात करते हुए भगवान सिंह ने कहा कि बिहार की तर्ज पर झारखंड में भी जदयू पूरी तरह एनडीए से साथ है. लोकसभा में कितने सीटों पर चुनाव लड़ने के सवाल पर उन्होंने कहा कि आगामी 3 जनवरी को जदयू के प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक आयोजित की गयी है. इस बैठक में आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर मुख्य बिंदु पर चर्चा की जाएगी. लिए निर्णय को राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतिश कुमार को जानकारी दी जाएगी. उसके बाद केंद्रीय स्तर पर ही लोकसभा व विधानसभा सीट बटवारें को लेकर निर्णय लिया जाएगा. बैठक में पार्टी के प्रदेश स्तर के प्रभारी, कार्यकारिणी सदस्य, जिला और विभिन्न प्रकोष्ठ के अध्यक्ष शामिल होंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: