न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Onion : केंद्र सरकार 2020 में एक लाख टन प्याज का बफर स्टॉक तैयार करेगी

सरकार ने चालू वर्ष में प्याज का 56,000 टन का बफर स्टॉक तैयार किया था लेकिन यह बढती कीमत को थामने में नाकाम रहा.

80

NewDelhi : केंद्र सरकार ने अगले साल प्याज का एक लाख टन का बफर स्टॉक बनाने का निर्णय किया है. हाल में प्याज के दाम में उछाल तथा आगे ऐसी स्थिति से बचने के लिये यह कदम उठाया जा रहा है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी. सरकार ने चालू वर्ष में प्याज का 56,000 टन का बफर स्टॉक तैयार किया था लेकिन यह बढती कीमत को थामने में नाकाम रहा.

इसे भी पढ़ें : #Private_Train  का जमाना आया,  महानगरों से जुड़े 100 मार्गों पर चलेगी 150 प्राइवेट ट्रेन,  वित्त मंत्रालय की मुहर लगी!

Aqua Spa Salon 5/02/2020

प्याज के दाम ज्यादातर शहरों में 100 रुपये किलो से ऊपर  

प्याज के दाम अभी भी ज्यादातर शहरों में 100 रुपये किलो से ऊपर चल रहे हैं. परिणामस्वरूप, सरकार को सार्वजनिक क्षेत्र की एमएमटीसी के जरिये प्याज आयात के लिये विवश होना पड़ा है.  अधिकारी ने भाषा से कहा, गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में हाल में मंत्री समूह की बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा हुई थी. यह निर्णय लिया गया है कि अगले साल के लिए करीब एक लाख टन का बफर स्टॉक सृजित किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : इंटरनेट सेवा बंद होने से नेटवर्क कंपनियों को हर घंटे हो रहा है 2.45 करोड़ रुपये का नुकसान

Related Posts

#Indian_Airforce में शामिल होंगे 83 तेजस फाइटर जेट, HAL के साथ 39,000 करोड़ की डील पर मुहर

HAL ने 56,500 करोड़ रुपए की डील को घटाकर 39,000 करोड़ रुपए कर दिया है. एक साल लंबी बातचीत के बाद इस डील में 17,000 करोड़ रुपए की कमी की गयी है.

नाफेड रबी मौसम में उत्पादित प्याज की खरीदारी करेगा   

सरकार की तरफ से बफर स्टॉक रखने वाली संस्था नाफेड (भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन परिसंघ) अगले साल यह जिम्मेदारी निभायेगी. नाफेड मार्च-जुलाई के दौरान रबी मौसम में उत्पादित होने वाले प्याज की खरीदारी करेगा. इस प्याज का जीवनकाल अधिक होता है. खरीफ मौसम में उत्पादक क्षेत्रों में देर तक मानसूनी बारिश और बाद में बेमौसम भारी बारिश के कारण इस साल प्याज के उत्पादन में 26 प्रतिशत गिरावट आयी है. इसका असर कीमत पर पड़ा है.

सरकार ने प्याज के दाम में तेजी पर अंकुश लगाने के लिए कई कदम उठाये हैं. इसमें निर्यात पर पाबंदी, व्यापारियों पर भंडार सीमा के अलावा बफर स्टॉक और आयात के जरिये सस्ती दर पर प्याज की बिक्री शामिल हैं. सरकार के पास जो बफर स्टॉक था, वह समाप्त हो चुका हैं. सस्ती दर पर ग्राहकों को उपलब्ध कराने के लिये अब आयातित प्याज की बिक्री की जा रही है.

इसे भी पढ़ें : #Uddhav_Government मंत्रिमंडल का विस्तार, अजित पवार डिप्टी सीएम ,आदित्य ठाकरे, अशोक चव्हाण कैबिनेट मंत्री बने

Sport House

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like