JharkhandKoderma

सभी को मुफ्त टीका लगाने की जिम्मेदारी केन्द्र सरकार को लेनी होगी : सीटू

Koderma: कोरोना महामारी का मुकाबला करने के लिए देश के सभी नागरिकों को मुफ्त टीका लगाने की जिम्मेदारी केन्द्र सरकार को लेनी होगी. उक्त बातें सीटू राज्य कमिटी सदस्य संजय पासवान ने महावीर मुहल्ला में आयोजित मजदूर दिवस कार्यक्रम में कही.

सर्वप्रथम शिकागो के शहीदों के खून का प्रतीक लाल झंडा फहराकर और शहीद वेदी पर पुष्पांजलि अर्पित कर मई दिवस की शुरुआत की गई. जहां शिकागो के शहीदों को लाल सलाम, दुनिया के मजदूरों एक हों, श्रम कानूनों में छेड़ छाड़ नहीं चलेगा, काम का घंटा 8 से बढ़ाकर 12 घंटा करना बन्द करो आदि नारे लगाए गए.

इस अवसर पर सीटू नेता सदस्य संजय पासवान ने बताया कि हर साल एक मई को पूरी दुनिया में मजदूर दिवस मनाया जाता है. अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस का आरंभ 1886 में शिकागो में हुआ था. इस दिन शिकागो के हेमार्केट में मजदूरों की यूनियन ने आठ घंटे से अधिक काम न करने के लिए हड़ताल की थी.

पुलिस ने आंदोलनकारियों की आवाज दबाने के लिए उन निहत्थे मजदूरों पर गोली चला दी जिसमें सात मजदूर शहीद हो गए थे.

इसे भी पढ़ें –रूसी वैक्‍सीन स्‍पूतनिक वी की पहली खेप पहुंची भारत

इसी आंदोलन के बाद अमेरिका ने मजदूरों के काम के 8 घंटे निर्धारित की और उसके बाद पूरी दुनिया में एक मई को अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाया जाने लगा. भारत में एक मई 1923 को पहला मजदूर दिवस मनाया गया था.

वक्ताओं ने कहा कि संघर्षों से प्राप्त मजदूरों के अधिकारों के लिए बने 39 श्रम कानूनों को समाप्त कर मोदी सरकार ने तीन लेबर कोड में बदल दिया है. और काम का घंटा 8 से बढ़ाकर 12 घंटा करने की साज़िश की जा रही है. जिसका हर स्तर पर विरोध किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संकट से बाहर निकलने का एकमात्र रास्ता है कि तुरंत देश के सभी उम्र के लोगों के लिए नि:शुल्क टीकाकरण शुरू किया जाये. सीटू नेता ने कहा कि सभी लोगों को निःशुल्क टीका के लिए 35,000 करोड़ रुपये खर्च होगा.

20,000 करोड़ रुपये की नए संसद भवन सेंट्रल विस्टा परियोजना को बंद कर इस फंड का इस्तेमाल किया जा सकता है. साथ ही टीके खरीदने के लिए पीएम केयर्स राशि का भी उपयोग किया जाना चाहिए.

इस अवसर पर सीटू ने आयकर दायरे से बाहर के परिवारों के लिए 7,500 रुपये प्रति माह नकद सहायता और अगले छह महीनों के लिए प्रति व्यक्ति प्रति माह 10 किलो मुफ्त राशन देने की बात कही.

साथ ही हेल्थ सहिया और आंगनबाड़ी कर्मचारियों सहित सभी स्वास्थ्य देखभाल और फ्रंटलाइन श्रमिकों व कर्मचारियों के लिए सुरक्षा के साज-सामान और उपकरण तथा व्यापक बीमा कवरेज किए जाने की मांग की. कार्यक्रम में सुरेन्द्र राम, महेन्द्र तुरी, शिवपूजन पासवान, रेखा कुमारी आदि मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें –दिल्ली में एक हफ्ते के लिए बढ़ा लॉकडाउन

Advt

Related Articles

Back to top button