NationalTOP SLIDER

कृषि कानूनों पर एक-डेढ़ साल तक रोक लगाने को केंद्र सरकार तैयार, लेकिन वापस नहीं लेगी कानून

  • किसानों से 10वें दौर की बातचीत के बाद कृषि मंत्री ने दी जानकारी

New Delhi : केंद्र सरकार एक से डेढ़ साल तक नये कृषि कानूनों पर रोक लागने को तैयार हो गयी है. यह जानकारी केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसान संगठन और सरकार के बीच बुधवार को हुई 10वें दौर की बातचीत खत्म होने के बाद दी.

केंद्र सरकार ने किसानों को दिया प्रस्ताव, किसान 22 जनवरी को देंगे जवाब

सरकार ने किसानों को प्रस्ताव दिया कि एक निश्चित समय के लिए कानून पर रोक लगा दी जाये और एक कमिटी का गठन किया जाये, जिसमें सरकार और किसान दोनों हों. वहीं, किसान संगठन इस प्रस्ताव पर गुरुवार को बैठक करेंगे. उसके बाद 22 जनवरी को होनेवाली वार्ता में जवाब देंगे.

इसे भी पढ़ें- फर्जी फर्म खोल 15 करोड़ रुपये की कर चोरी करनेवाला 2 साल बाद गिरफ्तार

इस बीच कृषि मंत्री ने कहा, “आज हमारी कोशिश थी कि कोई निर्णय हो जाये. किसान यूनियन कानून वापसी की मांग पर अड़ी थी और सरकार खुले मन से कानून के प्रावधान के अनुसार विचार करने और संशोधन करने के लिए तैयार थी.”

तोमर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने कुछ समय के लिए कृषि सुधार कानूनों को स्थगित किया है. सरकार एक-डेढ़ साल तक भी कानून के क्रियान्वयन को स्थगित करने के लिए तैयार है. इस दौरान किसान यूनियन और सरकार को  बात करके समाधान तलाशना होगा.

किसी भी सूरत में तीनों कानूनों को वापस नहीं लेगी सरकार : कृषि मंत्री

कृषि मंत्री ने कहा, “हम तीनों कानूनों पर आपके साथ बिंदुवार चर्चा के लिए तैयार हैं, लेकिन सरकार किसी भी सूरत में तीनों कानून को वापस नहीं लेगी.” कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार और किसान संगठनों के नेताओं की एक कमिटी बना देते हैं, जब तक बीच का रास्ता नहीं निकलेगा, तब तक हम कानून को लागू नहीं करेंगे. सरकार यह एफिडेविट सुप्रीम कोर्ट में भी देने को तैयार है.

इसे भी पढ़ें- सांसद निशिकांत दुबे की पत्नी अनामिका गौतम से जुड़ी एलोकेसी धाम की जमीन मामले में हाइकोर्ट ने सरकार से जवाब मांगा

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: