JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

एचईसी को केंद्र नहीं देगा फूटी-कौड़ी, कहा- अपने संसाधन से चलाइये

Ranchi: केंद्र सरकार एचईसी को चलाने के लिए फूटी-कौड़ी नहीं देगा. सरकार ने स्पष्ट कहा दिया है कि एचईसी अपने संसाधन से ही चलाये. केंद्र कोई मदद नहीं करेगा. गुरुवार को इस बारे में भारी उद्योग मंत्री डॉ महेंद्रनाथ पांडेय ने बैठक बुलायी. बैठक में सभी मसलों पर गम्भीरता से विचार किया गया. एचईसी के सारे पहलूओं पर चर्चा की गयी. इस बैठक में भारी उद्योग सचिव, सीएमडी नलिन सिंघल व एचइसी के तीनों निदेशक एमके सक्सेना, अरुंधति पांडा व राणा एस चक्रवर्ती भी मौजूद थे.

बैठक में भारी उद्योग मंत्री डॉ महेंद्र पांडेय ने साफ तौर पर कह दिया है कि जो कर्मचारी हड़ताल पर हैं एचईसी प्रबंधन उन्हें हड़ताल खत्म करने को कहे. अन्यथा संस्थान बन्दी के कगार पर पहुंच जायेगा.

इसे भी पढ़ें:ठंड में गरीबों की जान लेने पर लगी हेमंत सरकार, अविलंब हो अलाव और कंबल की व्यवस्था : दीपक प्रकाश

Sanjeevani

बैंक गारंटी भी देने को तैयार नहीं

एचईसी को केंद्र सरकार पर आस बंधी थी कि केंद्र सरकार से उसे 300 करोड़ की बैंक गारंटी मिल जायेगी, जिससे एचईसी को बढ़ाने में मदद हो सकेगी. पर ऐसा नहीं हुआ. केंद्र ने बैंक गारंटी देने से साफ इंकार कर दिया है.

निदेशकों ने प्रस्ताव दिया था कि एचईसी की 1200 एकड़ खाली जमीन है, जिस पर मॉर्गेज राशि की मांग की थी, पर केंद्र मानने को तैयार नहीं हुआ.

इसे भी पढ़ें:हुनर के साथ रोजगार देना सरकार की प्राथमिकताः मुख्यमंत्री

वेतन भुगतान को लेकर एचईसी मज़दूर पिछले 14 दिनों से आंदोलनरत हैं

लंबित वेतन भुगतान को लेकर एचईसी के मज़दूर पिछले 14 दिनों से आंदोलनरत हैं. मंगलवार को सांसद गीता कोड़ा ने एचईसी का मुद्दा सदन में उठाया था. उन्होंने आश्वासन भी दिया था कि वो जल्द ही भारी उद्योग मंत्री और मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से मिल कर बात करेंगी.

इसे भी पढ़ें:शिक्षा मंत्री की सहमति के बाद जैक अध्यक्ष-उपाध्यक्ष की अनुशंसा, अब तक नहीं निकला नोटिफिकेशन

Related Articles

Back to top button