JharkhandRanchi

केंद्र को वापस लेना होगा किसान विरोधी कानूनः कांग्रेस

Ranchi : अपनी मांगों को लेकर सड़क पर आंदोलरत किसानों के समर्थन में अब रांची महानगर कांग्रेस भी उतर आयी है. महानगर अध्यक्ष संजय पांडेय ने कहा कि अपने हक की बात करने वाले किसानों पर केंद्र ने दमनकारी नीति का सहारा लिया है.

शक्तियों का गलत प्रयोग कर केंद्र किसानों पर लाठियों की बौंछार कर रही है. यह नीतियां आने वाले समय में मोदी और भाजपा को भारी पड़ेंगी.

उन्होंने कहा कि भूमि अधिग्रहण के खिलाफ देश की आम जनता ने एकजुट होकर मोदी नीतियों का विरोध किया था. जिसका हश्र यह हुआ कि भूमि अधिग्रहण बिल वापस ले लिया गया. इसी तरह मोदी सरकार को पास किये तीन काले कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए बाध्य होना पड़ेगा.

इसे भी पढ़ें : 11 दिसंबर के बाद तापमान में आयेगी गिरावट, छायेगा कोहरा

बता दें कि आंदोलनरत किसानों पर केंद्र के रवैये व अत्याचार के खिलाफ शनिवार को महानगर कांग्रेस कमेटी द्वारा विभिन्न प्रखंडों में धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया.

इस क्रम में रातू रोड प्रखंड कांग्रेस कमेटी द्वारा हेहल अंचल में, मोराबादी एवं बरियातू प्रखंड कांग्रेस कमेटी द्वारा बड़गाई अंचल, नामकुम प्रखंड कांग्रेस कमेटी द्वारा नामकुम प्रखंड कार्यालय में तथा हटिया, हिनू, जगन्नाथपुर, धुर्वा प्रखंड द्वारा संयुक्त रुप से बिरसा चौक पर धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया. बिरसा चौक पर आयोजित धरना कार्यक्रम का नेतृत्व महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष संजय पांडे द्वारा किया गया.

मौके पर उपस्थित विधायक दीपिका पांडे सिंह ने कहा कि देश के अन्नदाता के खिलाफ मोदी सरकार ने तीन काले कानूनों को पास किया है. यह साबित हो चुका है कि मोदी अपने मित्र औद्योगिक घरानों को फायदा पहुंचाने के लिए किसी भी स्तर पर जा सकती है.

स्वतंत्र भारत के इतिहास में पहली बार जनता ने ऐसी सरकार देखी है जो जनता के हितों के लिए फैसले ना लेकर औद्योगिक घरानों के हितों को ध्यान में रखकर फैसले लेती है और उनके मन मुताबिक कानूनों में बदलाव करती है.

इसे भी पढ़ें : ट्रैफिक नियम तोड़ने के एवज में रोजाना साढ़े 8 लाख रुपये जुर्माना भरते हैं रांची के लोग

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: