National

कुछ अदालतों में #CISF की तैनाती पर विचार करे केंद्र सरकार :  Supreme court

विज्ञापन

NewDelhi :  सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा कि वह अप्रिय घटनाओं से बचने के लिए कुछ अदालतों में सीआईएसएफ के एक विशेष कैडर की तैनाती की संभावना पर विचार करे.  CJI एसए बोबडे के अध्यक्षता में एक पीठ ने कहा कि अगर वहां सीआईएसएफ तैनात होती तो दिल्ली वाली वह घटना नहीं हुई होती. पीठ शायद तीस हजारी की हालिया घटना का जिक्र कर रही थी.

इसे भी पढ़ें : अहमदाबाद झड़प: ABVP और NSUI के 25 सदस्यों पर मामला दर्ज, कोई गिरफ्तारी नहीं

तीस हजारी अदालत परिसर में वकीलों और पुलिस कर्मियों के बीच झड़प हुई थी

जान लें कि पिछले साल नवंबर में तीस हजारी अदालत परिसर में वकीलों और पुलिस कर्मियों के बीच झड़प हुई थी.न्यायमूर्ति बीआर गवई और न्यायमूर्ति सूर्यकांत भी इस पीठ में हैं.  पीठ ने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से कहा कि सीआईएसएफ का एक अलग कैडर होना चाहिए जो CJI के फैसले के बाद कुछ न्यायालयों में सुरक्षा मुहैया कराये.

advt

इस मामले में न्यायमित्र के रूप में पेश हुए वरिष्ठ वकील सिद्धार्थ लुथरा ने कहा कि वकीलों के लिए समस्या हो सकती है और यह उचित होगा कि इस मामले में बार काउंसिल ऑफ इंडिया (बीसीआई) से भी विचार लिया जाये. इसके बाद पीठ ने अदालतों में सीआईएसएफ की तैनाती पर विचार जानने के लिए बार काउंसिल ऑफ इंडिया को नोटिस जारी किया.

इसे भी पढ़ें : #Mamta_Banerjee का वामदलों और कांग्रेस पर तंज, कहा-जिनका कोई राजनीतिक आधार नहीं, वे कर रहे हैं बंद का आह्वान

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button