Education & Career

केन्द्र और सीबीएसई ने कहा- 12वीं कक्षा की शेष परीक्षाओं को रद्द करने के विषय पर निर्णय शीघ्र

विज्ञापन

New Delhi : केन्द्र सरकार और सीबीएसई ने मंगलवार को उच्चतम न्यायालय से कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ रहे मामलों के मद्देनजर 12वीं कक्षा की एक से 15 जुलाई के बीच होनेवाली शेष परीक्षाओं को रद्द करने के विषय पर बातचीत अंतिम चरण में है और बुधवार को इस बारे में कोई निर्णय लिया जा सकता है.

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने न्यायमूर्ति एएम खानविलकर की अध्यक्षतावाली पीठ से कहा कि सरकार और केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) छात्रों की चिंता से वाकिफ हैं और इस मुद्दे पर अधिकारी शीघ्र निर्णय लेंगे.

इसे भी पढ़ें – कोरोनिल : बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि ने बनायी कोरोना वायरस की दवा, 100 पर्सेंट रिकवरी रेट का दावा

advt

25 जून को होगी सुनवाई

श्री मेहता ने पीठ से मामले को एक दिन के लिए स्थगित करने का अनुरोध किया और कहा कि वह उच्चतम न्यायालय को अधिकारियों के निर्णय से अवगत करायेंगे. श्री मेहता की दलीलें सुनने के बाद पीठ ने मामले की सुनवाई 25 जून के लिए स्थगित कर दी. पीठ में न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना भी शामिल हैं.

उच्चतम न्यायालय परीक्षा में शामिल होनेवाले कुछ छात्रों के अभिभावकों की याचिका पर सुनवाई कर रही है. याचिका में सीबीएसई को पूर्व में ली गयी परीक्षाओं के आधार पर परिणाम घोषित करने और इसे शेष विषयों के आंतरिक मूल्यांकन अंकों के औसत के आधार पर तय करने के निर्देश देने की मांग की गयी है.

इसे भी पढ़ें – भारत-चीन तनाव के बीच अमेरिका ने कहा- चीन के साथ जारी रहेगा व्यापार

इसबीच, उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को एक अलग याचिका पर सुनवाई की जिसमें कोविड-19 महामारी के बीच भारतीय विद्यालय प्रमाणपत्र परीक्षा परिषद (आइसीएसई) द्वारा ली गयी परीक्षाओं को रद्द करने की मांग की गयी है.

adv

आइसीएसई की तरफ से पेश वकील ने पीठ से कहा कि वह सीबीएसई परीक्षा के संबंध में सरकार के निर्णय का व्यापक रूप से अनुपालन करेंगे. इस पर, पीठ ने कहा कि आइसीएसई इस मामले पर खुद निर्णय ले सकती है.

श्री मेहता ने कहा कि सीबीएसई के संबंध में लिया गया निर्णय आइसीएसई के लिए बाध्यकारी नहीं होगा. बहरहाल,न्यायालय ने दोनों विषयों की सुनवाई 25 जून के लिए निर्धारित कर दी. गौरतलब है कि बम्बई उच्च न्यायालय ने महाराष्ट्र में कोविड-19 के बढ़ते मामलों एवं इससे हो रही मौत पर कल चिंता जाहिर करते हुये आइसीएसई बोर्ड की 10 वीं एवं 12 वीं कक्षा की परीक्षाएं जुलाई में कराने की अनुमति दिये जाने के मामले में राज्य सरकार को अपना रुख स्पष्ट करने का निर्देश दिया था.

इसे भी पढ़ें – RJD में सियासी भूकंप! 5 MLC के बाद रघुवंश प्रसाद सिंह ने दिया पद से इस्तीफा

advt
Advertisement

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button