ChaibasaJamshedpurJharkhandLIFESTYLE

Happy Marriage Anniversary : जमशेदपुर के मेले में मुलाकात, फिर जीवनभर का साथ, शादी के 60 साल पूरे होने पर राउरकेला में मना जश्न

Jamshedpur : जमशेदपुर के दुर्गा पूजा मेले में पहली मुलाकात में ही शिवा सिंह को आशा सिंह भा गई थी. तब से ही उन्होंने आशा को अपना जीवनसाथी बनाने की सोच ली थी. लेकिन उस शख्स को तब यह पक्का यकीन नहीं था कि दोनों की इतनी आसानी से शादी हो जाएगी और वे हंसी-खुशी अपने वैवाहिक जीवन के 60 साल भी आराम से पूरा कर लेंगे. फिर भी, कुछ कुछ ऐसा ही. तब के जमशेदपुर के बिष्टुपुर में रहनेवाले शिवा सिंह अब 86 वर्ष के हो चुके हैं. वे राउरकेला के सेक्टर 18 में अपनी पत्नी आशा सिंह (76) के साथ रहते हैं. उनका पूरा नाती, नतिनी, पोता और पोती से भरा-पूरा परिवार है. इनमें से कई बच्चों की शादी भी हो चुकी है. 10 जुलाई को शिवा सिंह ने अपनी पत्नी और बच्चों के साथ वैवाहिक जीवन के 60 साल पूरा होने का जश्न धूमधाम से मनाया.

कदमा में रीति-रिवाज के साथ हुई थी शादी
10 जुलाई 1962 वह दिन था, जब बिष्टुपुर स्थित अपने घर से शिवा सिंह दोस्तों के साथ दुर्गा पूजा मेला घूमने निकले थे. मेले में ही उन्हें अपने एक दोस्त के दोस्त की बहन आशा से मुलाकात हुई थी. उसके बाद शिवा सिंह ने मन ही मन आशा सिंह को पसंद करते हुए शादी करने की ठान ली थी. हालांकि अब रिश्ता जोड़ने की पहल कौन और कैसे करे, यह समस्या उनके सामने जरूर थी. इसमें भी उनके दोस्तों ने ही उनका साथ दिया. शिवा सिंह के कहने पर दोस्तों ने आशा के घरवालों से उनकी शादी की बात चलाई और मामला फिट बैठ गया. उसके बाद आशा सिंह के परिवार वालों के साथ शिवा सिंह के परिवार वाले इस रिश्ते के लिए राजी हुए. फिर 10 जुलाई को जमशेदपुर के कदमा में दोनों की धूमधाम से शादी हुई. शादी के बाद दोनों बिष्टुपुर में रहने लगे. तब शिवा सिंह टाटा स्टील में काम करते थे. उसके बाद जब राउरकेला में भी स्टील प्लांट खुला तो वे राउरकेला स्टील प्लांट में नौकरी खोज वहां चले गए और परिवार के साथ वहीं बस गए. इस दौरान उनके दो बेटे और तीन बेटियां हुईं. उन सभी की शादी भी हो गयी है. उनका परिवार जमशेदपुर, चक्रधरपुर और राउरकेला समेत अन्य जगहों पर बसा हुआ है.

जीवन में कई मुसीबतें आई, लेकिन परिवार को टूटने नहीं दिया


शादी के बाद शिवा सिंह और आशा सिंह के जीवन में कई उतार-चढ़ाव आए. फिर भी उन्होंने अपने परिवार को टूटने नहीं दिया और उसे एक सूत्र में बांधे रखा है. सबसे बड़ी बात यह रही कि तमाम मुसीबतों के बावजूद भी पति-पत्नी और परिवार के लोगों के रिश्ते कभी कमजोर नहीं हुए. सबों ने एक – दूसरे को अपने प्रेम, स्नेह और विश्वास के जरिए आपस में बांधे रखा.
शादी के वर्षगांठ समारोह में ये हुए शरीक
शिवा सिंह और आशा सिंह की शादी की वर्षगांठ समारोह में पारिवारिक सदस्य अमर सिंह, प्रगति सिंह, मानसी सिंह, अंकित सिंह, गुरप्रीत सिंह, पिकुमुनु कुम्भार, मेनका कुम्भार, राकेश कुम्भार, मानस, अर्चना कुम्भार, रियान कुम्भार, बेहरा सपना कुम्भार, सरोज टांडिया, चन्द्र टांडिया, सुदेशना टांडिया, संभव टांडिया सहित अन्य लोग शामिल हुए. उन सबों की खुशी देखते ही बन रही थी.

ये भी पढ़ें- Good News : चाईबासा का आदर्श नगरपालिका बांग्ला मध्य विद्यालय राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए नामित, जानें क्या खास है यहां

Related Articles

Back to top button