न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीएस पिटाई मामले में हमले वाली रात सीसीटीवी कैमरे का समय 40 मिनट पीछे : फॉरेंसिक रिपोर्ट

134

New Delhi : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निवास पर मुख्य सचिव अंशु प्रकाश पर कथित हमले के मामले में आरोपपत्र दायर करने से पहले आयी फोरेंसिक रिपार्ट में कहा गया है कि घटना की रात मुख्यमंत्री के निवास के कैमरों में नजर आ रहा समय वास्तविक समय से करीब 40 मिनट पीछे है. जांच से जुड़े एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि इसी हफ्ते फारेंसिक रिपोर्ट मिली है. हालांकि रिपोर्ट में इस बात का जिक्र नहीं है कि प्रकाश पर कथित हमले के समय के आसपास कैमरों या घड़ी में छेड़छाड़ की गयी थी या नहीं , या फिर इसे इस तरह सेट किया गया था.

इसे भी पढ़ें- प्रमोशन में आरक्षण पर लगी रोक हाई कोर्ट ने हटायी, पहले वाली व्यवस्था बहाल

तैयार किया जा रहा आरोप पत्र

पुलिस की टीम ने सिविल लाईंस में केजरीवाल के निवास पर लगे सीसीटीवी कैमरे 23 फरवरी को खंगाले थे और जांच के लिए सीसीटीवी प्रणाली का हार्ड डिस्क जब्त कर लिया था. मुख्यमंत्री के आवास पर 14 कैमरे काम कर रहे थे जबकि सात काम नहीं कर रहे थे. पुलिस ने कहा था कि कैमरों से लगता है कि कथित हमले के समय वक्त 40.43 मिनट पीछे चल रहा है. अब फोरेंसिक रिपोर्ट में उसकी पुष्टि हुई है. दिल्ली पुलिस शीघ्र ही आरोप पत्र दायर कर सकती है. अधिकारी ने कहा कि हम जांच के आखिर चरण में हैं. आरोपपत्र तैयार किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- खूंटी में जबरदस्त तनाव के बीच प्रशासन का फैसला, 388 ट्रेनी दरोगा संभालेंगे कानून-व्यवस्था, तुरंत खूंटी रवाना होने का आदेश

क्या है मामला

मुख्य सचिव प्रकाश पर 19 फरवरी को केजरीवाल के निवास पर एक बैठक के दौरान कथित रुप से हमला किया गया था. पुलिस ने कहा है कि केजरवाल हमले के वक्त मौजूद थे. पुलिस ने बैठक में मौजूद केजरीवाल , उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और 11 आप विधायकों से पूछताछ की है. केजरीवाल के पूर्व सलाहकार वी के जैन भी वहां मौजूद थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: