JharkhandRanchiSports

CCL ने CSR के जरिये रांची में स्पोर्ट्स ट्रेनिंग प्रोग्राम पर अब तक खर्च किये 26 करोड़

कोरोना से राहत के लिए राज्य सरकार को 20 करोड़

Ranchi: होटवार स्थित सीसीएल द्वारा संचालित जेएसएसपीएस पर अब तक 26 करोड़ खर्च किये जा चुके हैं. राज्य के उभरते खिलाड़ियों के लिए ट्रेनिंग और रख-रखाव पर ये पैसे सीसीएल ने सीएसआर के जरिये खर्च किये हैं. केंद्रीय कोयला मंत्रालय के अनुसार खेल के क्षेत्र में मंत्रालय वृहद पैमाने पर काम कर रहा है. झारखंड में भी खेल क्षेत्र से जुड़े कई कार्य किए गए हैं.

एक प्रश्न के जवाब में मंत्री प्रह्लाद जोशी ने लोकसभा सत्र के दौरान बुधवार को कहा कि खेलगांव में खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देने का काम जारी है.

इस क्रम में खेलगांव (रांची) में 2018-19 में 5.28 करोड़, 2019-20 में 14.62 करोड़ और 2020-21 में 6.48 करोड़ रुपये खर्च किये गये हैं. साथ ही खेल अकादमी का संचालन भी किया गया. वर्तमान समय में इसका रखरखाव भी किया जा रहा है.

advt

इसे भी पढ़ें :MDM वर्कर्स को 500 रुपये अतिरिक्त देने की घोषणा की गयी थी, सात माह से मानदेय भी नहीं मिला

संजय सेठ ने मांगा था सीएसआर का हिसाब

सांसद संजय सेठ ने लोकसभा सत्र के दौरान बुधवार को कोयला मंत्रालय के द्वारा सीएसआर के तहत किए जा रहे कार्यों की जानकारी मांगी थी. मंत्रालय से नए कार्यों को करने का आग्रह भी किया था. सेठ ने कहा कि झारखंड खेल प्रतिभाओं के लिए उर्वरा भूमि है. खिलाड़ियों की एक बड़ी श्रृंखला है जो विश्व स्तर पर खेल रही है.

कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो अभी भी खेल में संभावनाएं तलाश रहे हैं. ऐसे खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए, प्रशिक्षण, संरक्षण के लिए कोयला मंत्रालय को सीएसआर के तहत उन्हें प्रशिक्षित किए जाने की तरफ कदम बढ़ाना चाहिए.

उन्होंने सीएसआर के तहत रांची में राष्ट्रीय स्तर की लाइब्रेरी खोलने की प्रक्रिया शुरू करने व अन्य कार्यों की सराहना भी की.

इसे भी पढ़ें :धनबाद केजज की मौत हत्या है? सीसीटीवी फुटेज से लगता है कि उन्हें ऑटो ने जानबूझकर मारी थी टक्कर ! देखें वीडियो

सीएसआर से चल रहे हैं कई काम

कोयला मंत्रालय के मुताबिक झारखंड में कोयला परियोजना से प्रभावित गांवों में गहरा बोरवेल की व्यवस्था की गई है. झारखंड के कई रेलवे स्टेशनों में लगभग 17 करोड़ की लागत से फैब्रिकेटेड शौचालय की स्थापना का काम चल रहा है. रांची में ही 1.27 करोड़ की लागत से लाल-लाडली योजना व शिक्षा से संबंधित अन्य कई कार्यक्रम चल रहे हैं.

वहीं रांची जिले में आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र के रूप में उन्नयन करने की दिशा में काम चल रहा है. यह परियोजना लगभग सवा दो करोड़ रुपये की है. इसके तहत कई कार्य हो रहे हैं.

कोरोना संक्रमण से राहत के लिए झारखंड सरकार को सीसीएल के द्वारा 20 करोड़ रुपया दिया गया है. सीएसआर के तहत इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने का काम सीसीएल द्वारा किया जाता है. समय के साथ इसमें कई चीजें जुड़ती भी हैं.

इसे भी पढ़ें :Jharkhand: चार जिला परिवहन पदाधिकारियों का तबादला, दो को अतिरिक्त प्रभार

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: