न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीसीएल बंद लोकल सेल नहीं खाेलती है तो 16 से आंदोलन : ग्रामीण

200

Bermo :  सीसीएल कथारा एरिया अंतर्गत स्वांग-गोविंदपुर परियोजना के लोकल सेल में विगत चार माह से बंद रोड सेल से प्रभावित ग्रामीणों, विस्थापितों, ट्रक ऑनर, डीओ धारकों तथा लिफ्टरों ने सोमवार को बोकारो थर्मल के गोविंदपुर ई पंचायत सचिवालय में डॉ दशरथ महतो की अध्यक्षता में बैठक की. बैठक में मौजूद उपरोक्त संगठनों के प्रतिनिधियों में से डॉ दशरथ महतो, कृष्णा निषाद, मनोज नायक, सुनील महतो, विनय मिश्रा आदि ने एक स्वर से कहा कि सीसीएल प्रबंधन विगत चार माह से बंद लोकल सेल को चालू करवाने की दिशा में किसी भी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंचा है. जिसके कारण लोकल सेल से जुड़े प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रुप से सभी प्रकार के लोगों के समक्ष गंभीर आर्थिक संकट उत्पन्न हो गया है.

इसे भी पढ़ेंःदिवाली में 10 बजे रात के बाद पटाखा जलाया तो एक लाख रुपये का लगेगा जुर्माना 

भूखमरी के कागार पर ग्रामीण

वक्ताओं ने कहा कि लोकल सेल खुलने के समय सीसीएल प्रबंधन के साथ जो समझौता हुआ था उसके तहत कुल उत्पादित कोयला का 30 फीसदी आबंटन स्थानीय बेरोजगारों, ग्रामीणों एवं विस्थापितों को दिया जाना था. छह वर्ष से सीसीएल प्रबंधन अपनी नीति के तहत उत्पादित कोयला का 30 फीसदी आबंटित कर रहा था. परंतु विगत चार माह से प्रबंधन कोयला का आबंटन नहीं दे रहा है. जिसके कारण समस्या उत्पन्न हो गयी है. प्रबंधन रोजगार नहीं दे सकती है तो कम से कम पूर्व से चले आ रहे रोजगार को किसी हथकंडे को अपनाकर छीनने का काम नहीं करे. उन्होंने कहा कि बरसात के महीने में पावर प्लांटों को कोयला संकट का सामना करन पड़ रहा था तो कोलियरियों का कोयला प्लांट को भेजा जा रहा था. परंतु बरसात की समाप्ति के बाद भी प्रबंधन पूर्व की ही तरह कोयला का आबंटन नहीं के बराबर कर रहा है जिसके कारण इस धंधे पर आश्रित हजारों लोग बेरोजगार होकर भूखों मरने को विवश हो गये हैं.

इसे भी पढ़ेंःरांची के इलाहाबाद बैंक से संयुक्त निदेशक राजीव सिंह के भाई ने फरजी दस्तावेज पर लिया कर्ज

सीसीएल प्रबंधन के खिलाफ जोरदार आंदोलन

उन्होंने कहा कि सीसीएल प्रबंधन यथाशीघ्र कोयला का आबंटन कर बंद लोकल सेल को खुलवाने का काम नहीं करता है तो 16 नवंबर से सीसीएल प्रबंधन के खिलाफ जोरदार आंदोलन किया जाएगा, जिसकी सारी जवाबदेही सीसीएल प्रबंधन पर होगी. इसके पूर्व सीसीएल के कारो, खासमहल, कोनार परियोजना के भी बंद पड़े लोकल सेलों को चालू करवाने को लेकर लगातार बैठकों का दौर जारी है. बैठकों में आंदोलन को लेकर रणनीति बनायी जा रही है. बैठक में ओमप्रकाश सिंह उर्फ टीनू सिंह, रिंकू सिंह, सुनील महतो, नरेश महतो, टिंकू सिंह, उमेश सिंह, मदन सिंह, भोला महतो, सुनील महतो, टाइगर, जाहिद हुसैन, मनोज सहानी, दीपक सिंह, बनारसी सिंह, दिनेश यादव, मंजूर आलम, पिंटू सिंह, करीम अंसारी, परशुराम सिंह, योगेंद्र रंजन, लाल मोहम्मद, विजय महतो, संतोष गुप्ता, नंदकिशोर सिंह सहित दर्जनों लोग उपस्थित थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: