Uncategorized

CBSE पेपर लीक: झारखंड पहुंची जांच की आग, चतरा में पुलिस हिरासत में कई छात्र, एसआईटी गठित

Chatra: सीबीएसई पेपर लीक पर देशभर में मचे बवाल के बीच जांच की आग झारखंड के चतरा पहुंच गयी है. खबर है कि कई छात्रों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. पूरे मामले की जांच को लेकर जिले के एसपी ने एसआईटी भी गठित की है. कई स्थानों पर छापेमारी की जा रही है. बताया जा रहा है कि बिहार-झारखंड में कई स्थानों में छापा मारा गया है. वही दोनों राज्यों के दो दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. एसपी ने दावा किया है कि इस रैकेट में शामिल शिक्षा माफिया तक पुलिस पहुंच चुकी है. शनिवार को एसपी पूरे मामले को लेकर खुलासा करेंगे.

झारखंड से 6 छात्र हिरासत में

सीबीएसई पेपर लीक मामले की जांच झारखंड तक पहुंच गई है. पेपर लीक में शामिल होने के संदेह में तरा के सदर थाने में पुलिस ने 6 स्टूडेंट्स को हिरासत में लिया है. जिनसे पूछताछ की जा रही है. खबर है कि सीबीएसई के कंट्रोलर ऑफ एग्जाम्स से भी पूछताछ हुई है. बताया जा रहा है कि अब तक 30 से ज्यादा लोगों से पुलिस पूछताछ कर चुकी है. इनमें से ज्यादातर कोचिंग सेंटरों में पढ़ते या पढ़ाते हैं। इन लोगों से जुड़े एक दर्जन से ज्यादा मोबाइल फोन जब्त भी किए जा चुके हैं.

जारी है प्रदर्शन

Sanjeevani

पिक

इधर दिल्ली में शुक्रवार को भी स्टूडेंट्स और अभिभावकों का प्रदर्शन जारी है. छात्रों ने सीबीएसई ऑफिस के बाहर तिरंगा झंडा लेकर प्रदर्शन किया.  स्टूडेंट्स ने दोबारा परीक्षा कराने के फैसले के विरोध में सीबीएसई प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. साथ ही मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के घर तक मार्च निकाला है. प्रदर्शन के कारण मंत्री जावडे़कर के घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. इस बीच सियासत भी शुरू हो गई है. कांग्रेस पार्टी से संबद्ध स्टूडेंट्स यूनियन NSUI भी छात्रों के इस प्रदर्शन में शामिल हो गया है. सीबीएसई दफ्तर के बाहर रैपिड ऐक्शन फोर्स (RAF) की तैनाती की गई है. दिल्ली ही नहीं, देश के कई शहरों में छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं. छात्रों का गुस्सा इस बात को लेकर है कि सीबीएसई की गलतियों के कारण उन्हें परेशान होना पड़ रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button