न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

IPS राजीव कुमार के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगी सीबीआइ

255

Kolkata: हजारों करोड़ रुपये के बहुचर्चित सारदा चिटफंड घोटाला मामले में आखिरकार कोलकाता पुलिस के पूर्व आयुक्त आइपीएस राजीव कुमार के खिलाफ चार्टशीट पेश होनेवाली है.

चिटफंड की जांच कर रहे केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो के सूत्रों ने शुक्रवार को इस बारे में जानकारी दी. बताया गया है कि जल्द ही इस मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी चार्जशीट पेश करेगी, जिसमें राजीव कुमार को आरोपित बनाया जायेगा.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ें – #The_Economist’s_Intolerant_India : PM Modi दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को उग्र हिंदुत्व राज्य की तरफ ले जा रहे हैं

गैर जमानती धाराओं के तहत नामजद किया जायेगा

फिलहाल वह राज्य के सूचना तकनीक विभाग के प्रधान सचिव हैं. चिटफंड मामलों की जांच में साक्ष्यों को मिटाने की गैर जमानती धाराओं के तहत उन्हें नामजद कर चार्जशीट पेश किया जायेगा.

जांच एजेंसी के सूत्रों ने बताया कि राजीव कुमार ने डेढ़ सालों तक सीबीआइ के साथ असहयोग किया है. जब भी सीबीआइ उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश में जुटी तब वह अंडर ग्राउंड हो गये और अपने बचाव में हर बार वह न्यायालय में यह पक्ष रखते रहे हैं कि उनके खिलाफ न तो प्राथमिकी है और न ही चार्जशीट.

Related Posts

राज्यपाल से मिलीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, जगदीप धनखड़ ने कहा, सकारात्मक बातचीत हुई

सूत्रों के अनुसार राज्यपाल और मुख्यमंत्री के बीच गोपनीय बैठक हुई. हालांकि किस मुद्दे पर बात हुई, इस बारे में स्थिति स्पष्ट नहीं हुई.

इसके जरिए श्री कुमार यह दावा करते रहे हैं कि चिटफंड मामले में साक्ष्यों को मिटाने आदि में उनकी कोई भूमिका नहीं है. सीबीआइ लगातार यह कहती रही है कि कुमार के खिलाफ साक्ष्यों को मिटाने के सबूत मौजूद हैं.

फिलहाल सारदा टूर्स एंड ट्रेवल्स और सारदा रियलिटी कंपनी के खिलाफ सीबीआइ ने चार्जशीट पेश की है. इसमें से किसी में भी राजीव कुमार का नाम नहीं है.

Sport House

उल्लेखनीय है कि 2013 में ही पश्चिम बंगाल सरकार ने चिटफंड मामलों की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया था जिसका मुखिया बिधाननगर पुलिस आयुक्तालय के तत्कालीन आयुक्त राजीव कुमार को बनाया गया था.

इसे भी पढ़ें – हेमंत सरकार कांग्रेस के दबाव में मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं कर पा रहीः भाजपा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like