न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चिटफंड कंपनी की ठगी की जानकारी जुटाने के लिए सीबीआइ लगायेगी कैंप

110

Sahibganj: बरहरवा में चिटफंड कंपनियों में निवेशकों द्वारा निवेश की गयी राशि‍ की जानकारी जुटाने के लिए गुरुवार को सीबीआइ की टीम पहुंची. अब सीबीआइ यहां कैंप लगायेगी. यह जानकारी देते हुए जांच अधिकारी एके तिवारी ने बताया कि जिन मकानों में चिटफंड कंपनियों के दफ्तर थे, आज वहां कुछ नहीं हैं. यही वजह है कि‍ जांच के साथ निवश किये लोगों तक पहुंचने में कठिनाई आ रही है. तत्कालीन पुलिस अधिकारियों ने जब दफ्तर सील किया था, तब का कोई लेखा-जोखा भी नहीं है. साथ ही लोगों ने किराये पर दिये दफ्तर हटा दिये हैं. उन्होंने बताया कि दफ्तर में कार्यरत स्थनीय प्रबंधक, एजेंट व निवेशक उनसे मिलकर निवेश के विषय में जानकारी देकर टीम की मदद कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि टीम में इंस्पेक्टर स्तरीय पदाधिकारी प्रदीप सहाय भी हैं. दो दिन तक टीम पतना प्रखंड कार्यलय में एक कक्ष में दो दिन तक कैम्प करेंगी. उन्होंने बताया कि‍ छह अन्य कंपनियों की जांच सीबीआइ की दूसरी टीम कर रही है.

पांच साल पहले सील किये गये थे चिटफंड कंपनी के 12 दफ्तर

यहां पांच पहले करीब दर्जन भर चिटफंड कंपनियां चलती थीं. इन कंपनियों पर कार्रवाई करते हुए सभी 12 चिटफंड कंपनियों के दफ्तरों को सील कर दिया गया था. इन चिटफंड कंपनी के एजेंट व संचालकों की जानकारी के लिए सील किये गये दफ्तरों की जांच की जा रही है. साथ ही यह जानकारी जुटाने की कोशिश की जा रही है कि चिटफंड कंपनियों ने कितने निवेशकों से कितने की ठगी की है. वेल्थ एग्रो भारतीय कृषि समृद्ध लिमिटेड, होली एग्रो टेक के निवेशकों की जानकारी हासिल कर आगे की कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ें: कोका-कोला के वाइस प्रेसीडेंट बोले- रांची का ही हूं मैं, सीएम ने कहा- झारखंड के सूपत हैं, कर्ज उतारें

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: