न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मेहुल चोकसी-नीरव मोदी को पकड़ने का CBI-ED का सीक्रेट मिशन, बोइंग विमान रिजर्व!

पंजाब नेशनल बैंक के साथ हजारों करोड़ का फर्जीवाड़ा कर देश छोड़कर भागने वाले  हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी और नीरव मोदी जल़्द ही सीबीआई के शिकंजे में होंगे.

31

NewDelhi : पंजाब नेशनल बैंक के साथ हजारों करोड़ का फर्जीवाड़ा कर देश छोड़कर भागने वाले  हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी और नीरव मोदी जल़्द ही सीबीआई के शिकंजे में होंगे. खबरों के अनुसार उऩ्हें कैरीबियाई देश से उठाने की तैयारी की जा रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस मामले में एयर इंडिया के एक हवाई जहाज भी शामिल होगा.  जानकारी के अनुसार मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण के सिलसिले में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारी वेस्टइंडीज जा रहे है. इस मिशन के लिए एयर इंडिया का बोइंग विमान रिजर्व किया गया है. बता दें कि जांच एजेंसियां जल्द ही इन भगोड़े आरोपियों को भारत में वापस लाने के ऑपरेशन पर काम कर रही है. सूत्रों की मानें तो इन्‍हें सीबीआई और ईडी के जॉइंट ऑपरेशन द्वारा भारत लाया जा सकता है. इस ऑपरेशन के तहत कैरेबियन देशों में सीबीआई की दो टीमें अभी भी हैं. इस ऑपरेशन से जुड़े कुछ अधिकारी तीन दिन पहले ही विदेश गये हैं. बता दें जांच एजेंसियों के राडार पर काफी चर्चित कारोबारी मेहुल चोकसी है.

भारतीय जांच एजेंसी विदेश मंत्रालय के नेतृत्व में विदेशी दूतावास के संपर्क में

भारतीय जांच एजेंसी विदेश मंत्रालय के नेतृत्व में विदेशी दूतावास के संपर्क में है. मेहुल चोकसी भी कैरेबियन देशों में है. जांच एजेंसी के सूत्रों ने यह भी खुलासा किया है कि चोकसी तथा नीरव मोदी जैसे लोग ही इन देशों के निशाने पर होते हैं, लेकिन यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि नीरव मोदी इनमें से किसी द्वीप पर रह रहा है या नहीं. चोकसी को कैरिबियाई देश से उठाया जा सकता है, जबकि नीरव मोदी को यूरोप से उठाया जा सकता है, जहां उसके छिपे होने की संभावना है. बता दें कि प्रत्यर्पण समझौता नहीं होने की वजह से ये द्वीप भारत के भगोड़े आर्थिक अपराधियों के लिए सुरक्षित पनाहगार बन गये हैं. इनके अलावा, अन्य देश जैसे ग्रेनाडा, सेंट लुसिया और डोमिनिसिया भी इसी तरह पैसे लेकर नागरिकता देने का काम करते हैं. जानकारी के अनुसार डोमिनिसिया और सेंट लुसिया महज एक लाख डॉलर में ही नागरिकता और पासपोर्ट दे देते हैं, जबकि अगर पत्नी को भी नागरिकता की जरूरत है, तो इसके लिए सेंट लुसिया 1.65 लाख डॉलर और डोमिनिसिया 1.75 लाख डॉलर लेता है. वहीं, ग्रेनाडा इसी तरह का पासपोर्ट दो लाख डॉलर में देता है.

 

hosp3
इसे भी पढ़ें : मोदी सरकार पूर्ण बजट पेश करने की तैयारी में, कांग्रेस में हलचल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: