न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीबीआइ विवादः भड़के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, टाली सुनवाई, कहा- आपमें से कोई आज सुनवाई के लिए डिजर्व नहीं करता

आलोक वर्मा का जवाब मीडिया में लीक होने पर चीफ जस्टिस ने नाराजगी जतायी

53

New Delhi: सीबीआइ विवाद पर मंगलवार को जैसे ही सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई भड़क गये. नाराजगी कारण सीबीआइ के निदेशक का जवाब मीडिया में लीक होना था. चीफ जस्टिस ने इस बात पर नाराजगी जतायी और कहा कि आपमें से कोई आज सुनवाई के लिए डिजर्व नहीं करता है. चीफ जस्टिस ने नाराजगी जताते हुए सुनवाई टाल दी और सुनवाई के लिए 29 नवंबर की तारीख तय की.

इसे भी पढ़ें – बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने अदालत में आत्मसमर्पण किया

चीफ जस्टिस ने पूछा, रिपोर्ट कैसे लीक हुई

मंगलवार को सुनवाई शुरू होते ही चीफ जस्टिस रंजन गोगोई सीबीआइ निदेशक आलोक वर्मा के वकील फली नरीमन से मुखातिब हुए. चीफ जस्टिस की बेंच ने फली नरीमन को मीडिया रिपोर्ट थमायी और पूछा कि आलोक वर्मा द्वारा सीलबंद लिफाफे में सौंपी गई रिपोर्ट मीडिया में कैसे लीक हुई. नरीमन ने इसे बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि उन्हें भी यह नहीं मालूम है कि यह रिपोर्ट कैसे लीक हो गयी.

इसे भी पढ़ें – सीबीआई प्रकरणः जानें देश के कौन-कौन सबसे प्रभावशाली लोगों की भूमिका है संदिग्ध

जब सोमवार को ही जवाब दाखिल करना था तो और समय क्यों मांग रहे थे

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने इस बात पर भी नाराजगी जतायी कि जब आलोक वर्मा को सोमवार को ही जवाब दाखिल करना था तो वह और समय क्यों मांग रहे थे. नरीमन ने कहा कि उन्हें इसकी भी जानकारी नहीं है. इसके बाद चीफ जस्टिस ने भड़कते हुए कहा कि आप में से कोई भी आज सुनवाई के लिए डिजर्व नहीं करता. फिर सुनवाई 29 नवंबर तक टाल दी गयी.

ज्ञात हो कि सोमवार को सीबीआइ निदेशक आलोक वर्मा ने उन पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर सीवीसी की रिपोर्ट पर अपना जवाब दाखिल किया था. शीर्ष अदालत ने सीबीआइ निदेशक के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों पर सीवीसी की प्रारंभिक रिपोर्ट पर 16 नवंबर को आलोक वर्मा को सीलबंद लिफाफे में सोमवार तक जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया था.

इसे भी पढ़ें – सीबीआइ की लड़ाई में केंद्र के इन ताकतवर लोगों के दामन पर भी लग रहा दाग

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: