न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

सीबीआई चीफ राव ने अगस्ता वेस्टलैंड और विजय माल्या सहित हाईप्रोफाइल केस अपने हाथ में लिये

सीबीआई के अंतरिम चीफ नागेश्वर राव ने हाईप्रोफाइल केसों की निगरानी अपने जिम्मे ले ली है

50

NewDelhi : सीबीआई के अंतरिम चीफ नागेश्वर राव ने हाईप्रोफाइल केसों की निगरानी अपने जिम्मे ले ली है. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार नागेश्वर राव अगस्ता वेस्टलैंड और विजय माल्या केस की निगरानी खुद करेंगे. सूत्रों का कहना है कि इन दोनों केस की जांच कर रहे ऑफसरों से कहा गया है कि वे नियमित तौर से जांच की प्रोग्रेस की डिटेल से अवगत कराते रहें. साथ ही अऩ्य कई संवेदनशील मामलों की जांच की निगरानी राव करेंगे. बता दें कि सीबीआई के चीफ आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के बीच टकराव,दोनों अफसरों द्वारा एक दूसरे के खिलाफ घूसखोरी जैसे गंभीर मुकदमे दर्ज कराये जाने के सीवीसी की सलाह पर केंद्र सरकार ने सीबीआई के दोनों अफसरों को छुट्टी पर भेज दिया. इस क्रम में जांच प्रक्रिया पूरी होने तक आलोक वर्मा की जगह नागेश्वर राव  सीबीआई में अंतरिम चीफ बनाये गये हैं.

eidbanner
इसे भी पढ़ें : छुट्टी पर भेजे गये सीबीआई चीफ आलोक वर्मा के घर के बाहर घूम रहे चार संदिग्ध हिरासत में

राकेश अस्थाना के खिलाफ जांच कर रही टीम भी बदली

सीबीआई ने विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रही टीम को बदल दिया है; जांच टीम में नये चेहरे शामिल किये गये हैं. अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि जांच अधिकारी से लेकर पर्यवेक्षक स्तर तक के अधिकारी को बदला गया है. अधिकारियों के अनुसार मंगलवार देर रात सीबीआई प्रमुख का प्रभार संभालने वाले 1986 बैच के ओड़िशा कैडर के आईपीएस अधिकारी एम नागेश्वर राव ने पुलिस अधीक्षक के तौर पर सतीश डागर को अस्थाना के खिलाफ दर्ज मामले की जांच का जिम्मा सौंपा है.  पुलिस अधीक्षक डागर द्वारा की जाने वाली जांच के पहले पर्यवेक्षण अधिकारी डीआईजी तरुण गाबा होंगे.  गाबा ने ही व्यापमं घोटाले की जांच की थी.  वी मुरुगेशन सीबीआई मुख्यालय में भ्रष्टाचार निरोधक इकाई-एक के संयुक्त निदेशक होंगे.

mi banner add

इसे भी पढ़ें : सीबीआई में कौन था माल्या का मददगार? राकेश अस्थाना की जांच से सच सामने आ सकता था

डीएसपी एके बस्सी को  तत्काल प्रभाव से पोर्ट ब्लेयर भेज दिया गया

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने कोयला घोटाले की जांच में मुरुगेशन पर भरोसा जताया था. इस क्रम में पिछले जांच अधिकारी डीएसपी एके बस्सी को जनहित में तत्काल प्रभाव से पोर्ट ब्लेयर भेज दिया गया है. बता दें कि राकेश अस्थाना ने केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) से की गयी शिकायत में आरोप लगाया था कि सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के निर्देश पर बस्सी उनके खिलाफ भटकाने वाली जांच कर रहे हैं.  सीबीआई ने संयुक्त निदेशक (नीति) अरुण कुमार शर्मा का तबादला कर उन्हें पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी हत्याकांड की जांच कर रही मल्टी-डिसिप्लीनरी मॉनिटरिंग एजेंसी (एमडीएमए) के संयुक्त निदेशक पद पर तैनात किया है. ए साई मनोहर का को चंडीगढ़ जोन का संयुक्त निदेशक बनाया गया है डीआईजी आर्थिक अपराध-तीन के पद पर कार्यरत अमित कुमार संयुक्त निदेशक (नीति) का अतिरिक्त प्रभार में रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: