न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
Browsing Category

Opinion

बंद को असंवैधानिक कहना लोकतांत्रिक नहीं

Faisal Anuragबंद या हड़ताल असंवैधानिक नहीं होता है. यह जनता, राजनीतिक दलों और सामाजिक संगठनों का लोकतांत्रिक अधिकार है कि जिन नीतियों से वह सहमत नहीं हैं या जिन नीतियों को वह जनविरोधी मानते हैं, उसके खिलाफ शांतिपूर्ण लोकतांत्रिक…

भारत के छोटे व्यापार को जीएसटी से बहुत बड़ी चोट पहुंची है

Girish Malviya1 जुलाई को जीएसटी को एक साल पूरा हो गया, जैसी आशंकाए व्यक्त की गयी थीं, इन एक सालो में भारत के छोटे व्यापार, उद्योग को इस जीएसटी से बहुत बड़ी चोट पहुंची हैं. आपको याद होगा कि जीएसटी का सबसे तीखा विरोध गुजरात के सूरत में…

कौन बचा रहा है छह पुलिसकर्मियों की मौत के जवाबदेह अफसरों को

Surjit Singhलातेहार के बूढ़ा पहाड़ क्षेत्र में 26 जून की शाम नक्सली हमले में छह जवानों के शहीद होने के लिए जवाबदेह अफसरों को कौन बचा रहा है. नक्सल अॉपरेशन के दौरान जो सावधानियां बरती जानी चाहिए, उस पर किन अफसरों ने ध्यान नहीं दिया. किन…

‘देश की अर्थव्यवस्था के लिए वरदान बनी जीएसटी’

जीएसटी लागू होने की वर्षगांठ पर विशेषMahesh Poddarआज पूरा देश वस्तु एवं सेवा कर की वर्षगांठ मना रहा है. आज से ठीक एक साल पहले इस कर प्रणाली को लेकर राजनीतिक गलियारे में कुछ ताकतों ने असमंजस की स्थिति पैदा करने की कोशिश की. लेकिन…

आरोप लगाकर जांच से क्यों पीछे हट रही झारखंड सरकार

Faisal Anurag मुख्यमंत्री रघुवर दास विपक्ष के बड़े नेताओं के खिलाफ आरोप लगाते हुए अक्सर धमकी भरे अंदाज में बात करते हैं, लेकिन आरापों की जांच कराने से पीछे हट जाते हैं. तो क्या यह माना जाए कि सरकार केवल धमकी की भाषा का प्रयोग कर विपक्षी…

संताल हूल और वर्तमान समय में इसकी सार्थकता

Sachchidanand Sorenसंताल हूल को समझने के लिए जरूरी है की हम हूल के अर्थ को समझें. "हूल" संताली आदिवासी शब्द है जिसका अर्थ होता है क्रांति/आंदोलन. शोषण,अत्याचार और अन्याय के विरुद्ध आवाज. सिदो-कान्हू मुर्मू ने लगातार पांच वर्षों तक…

बूढ़ा पहाड़ पर अफसरों की गलती से गयी छह जवानों की जान, कार्रवाई करने व गलती सुधारने के बजाय गलतियों…

-       25 जून को बूढ़ा पहाड़ के लिए निकली थी पुलिस फोर्स.-       25 जून की शाम ही फोर्स को गढ़वा पहुंचना था.-       बिना प्लान के रात में रुक गयी पुलिस फोर्स, एक्सपोज हो गयी.-       26 जून को भी किया लेट, लौटते वक्त नहीं…

आखिर और कितनी निर्भया….

Priyanka 16 दिसंबर 2012, रविवार की उस काली रात दिल्ली की सड़कों पर चलती बस में हुई दरिंदगी ने पूरे देश को झकझोर दिया. इस हैवानियत पर दिल्ली ही नहीं पूरे देश का खून उबाल पर दिखा और लोग सड़कों पर प्रदर्शन करते नजर आये. कैंडल मार्च हुए,…

सदियों पुरानी परंपरा पत्थलगड़ी पर तनाव और टकराव क्यों?

Faisal Anuragआदिवासी और पत्थलगड़ी का इतिहास उतना ही पुराना है, जितना की उनका अस्तित्व. खासकर मुंडा आदिवासियों के बीच पत्थलगड़ी न केवल सांस्कृतिक महत्व रखता है, बल्कि उनकी पहचान और रहन-सहन का हिस्सा है. लेकिन यह पहला अवसर है, जब…

भाजपा के निशाने पर झारखंड के चर्च

Faisal  Anuragझारखंड में भारतीय जनता पार्टी ने चर्च को निशाना बनाकर अपनी भावी चुनावी रणनीति का संकेत दे दिया है. पहले झारखंड सरकार ने ईसाई आदिवासियों को आरक्षण से वंचित करने का निर्णय लिया. सरकार ने पत्थलगड़ी को चर्च प्रायोजिम बताकर उसे…