Corona_UpdatesCrime NewsJharkhandRanchi

कोरोना काल में पारिवारिक विवाद के मामले बढ़े, महिला पुलिस की सूझबूझ से कई घर तबाह होने से बचे

Ranchi: कोरोना वायरस की वजह से पारिवारिक विवाद में भी बढ़ोतरी हुई है. महिला थाना में इन दिनों आपसी विवाद के मामले काफी तेजी से आ रहे हैं. इसमें ज्यादातर मामले एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर के होते हैं. इसमें भी पुलिस की प्राथमिकता परिवार को बचाने की ही होती है.

रांची में बीते चार महीने में पारिवारिक विवाद के लगभग 450 मामले आए. इसमें महिला पुलिस की तत्परता से 250 परिवारों को टूटने से बचाया गया. वहीं 29 मामलों में केस दर्ज किए गए हैं, जबकि अन्य मामलों में पुलिस ने मध्यस्थता के लिए समय दिया है.

advt

इस दौरान काउंसिलिंग के माध्यम से परिवार के सदस्यों को समझाने का प्रयास किया जाता है. महिला थाना प्रभारी के अलावा कुछ काउंसेलर भी हैं, जो इस काम में पुलिस की मदद करते हैं.

महिला थाना में बीते दिनों की अपेक्षा इन दिनों कुछ ज्यादा ही मामले आ रहे हैं. हर दिन पांच से सात नए केसेज थाने पहुंच रहे हैं. इन मामलों में काउंसिलिंग कर मध्यस्थता कराने का प्रयास किया जाता है. महिला पुलिस ने बताया कि कोरोना काल में कई लोगों का कारोबार समाप्त हो गया है जिसकी वजह से फैमिली में आर्थिक हालत बिगड़ने से भी खटपट शुरू हो रही है.

इसे भी पढ़ें :नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, जो अधिकारी अब संपत्ति का नहीं देंगे ब्यौरा उनपर दर्ज होगी FIR

हालांकि इसमें कई ऐसे परिवार हैं जो पुलिस के समझाने पर समझ जाते हैं और अपने परिवार को बचाने में सहयोग करते हैं. वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो शादी के बाद एक्स्ट्रा अफेयर रखने के कारण साथ रहना ही नहीं चाहते, उस कंडीशन में पुलिस केस फाइल कर देती है, जिसके बाद कोर्ट से निबटारा होता है.

महिला थाने में आती हैं अक्सर ये शिकायत

एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर, शादी का झांसा देकर यौन शोषण, शराब पीकर मारपीट, दहेज उत्पीड़न आदि ऐसे मामले हैं जिसके केसेज ज्यादा आते हैं. इसके अलावा छोटी-मोटी बात पर मारपीट, गाली-गलौज के कारण साथ नहीं रहने के मामले भी थाने पहुंचते हैं, जिसपर महिला थाने की ओर से गंभीरता पूर्वक समाधान निकाला जाता है.
महिला थाना प्रभारी ने कहा कि हमारी प्राथमिकता लोगों के घरों को जोड़ने की होती है न की तोड़ने की. सबसे पहले पति-पत्‍‌नी दोनों को बैठा कर समझाया जाता है. काउंसिलिंग में उनके अंदर भरे गुस्से को निकाल कर प्यार भरना होता है.

बिछड़ी पत्नी को पति से मिलाया

एक युवती ने बताया कि मेरे हस्बैंड मुझे छोड़ कर चले गए थे, जिसके बाद मुझे काफी परेशानी हुई. मैं जहां रहती थी वहां के हाउस ओनर ने भी मुझे घर खाली करने को कहा. मेरे पास पैसे भी नहीं थे. हार कर महिला थाने आकर शिकायत की. थाने से मुझे काफी सपोर्ट मिला. मेरे पति को पुलिस ने नोटिस भेजा जिसके बाद वे वापस लौटे. पुलिस के समझाने के बाद अब वे मेरे साथ रहने को तैयार हैं.

इसे भी पढ़ें : डीटीओ ने कोयला लदे हाइवा और लोहा लदे ट्रक को पकड़ा, महुदा थाना को सौंपा

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: