Crime NewsDeogharJharkhand

देवघर में तीन की मौत का मामला: वीडियो-फोटो में एक दूसरे पर पिस्तौल ताने नजर आये युवक

  • घटनास्थल पर बरामद पिस्तौल व मैगजीन और वीडियो में मौजूद पिस्तौल व मैगजीन एक होने की कही जा रही है बात

Deoghar: मंगलवार को जसीडीह थाना क्षेत्र के बाघमारा बस टर्मिनल के समीप स्थित एक निर्माणाधीन कमरे से तीन युवकों का गोली लगा हुआ शव बरामद करने के मामले में घटना के 6 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पायी है.

घटना के बाद से ही पुलिस मामले की गुत्थी सुलझाने में जुटी हुई है. इस दौरान पुलिस द्वारा मृत तीनों युवकों के परिजन सहित कई दोस्तों और पहचान वालों से भी पूछताछ की जा चुकी है. पुलिस द्वारा मामले की तकनीकी रूप से भी जांच की जा रही है.

कॉल डंप व मोबाइल लोकेशन के आधार पर भी मामले की जांच की गयी. जांच के क्रम में पुलिस को मृत तीनों युवकों के कुछ वीडियो व फोटो भी प्राप्त हुए हैं. प्राप्त फोटो में उनलोगों के हाथ में पिस्तौल भी मौजूद हैं. वे लोग एक दूसरे पर पिस्तौल ताने हुए नजर आ रहे हैं जबकि वीडियो में एक युवक पिस्तौल लेकर तानते हुए नजर आ रहा है.

पुलिस द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि वीडियो में युवकों के पास जो पिस्तौल व मैगजीन मौजूद है. वही पिस्तौल व मैगजीन घटनास्थल से भी बरामद किया गया है. वीडियो बरामद होने के बाद पुलिस मामले को अब हत्या के बाद आत्महत्या के एंगल से देख रही है.

हालांकि इस मामले में पुलिस अभी कुछ भी बोलने से बचते हुए नजर आ रही है. पुलिस द्वारा यह कहा जा रहा है कि तीनों युवक नशे के भी आदी थे. वे लोग ड्रग्स व डेनड्राइट का नशा करते थे. घटनास्थल से पुलिस द्वारा डेनड्राइट का ट्यूब व पॉलीथिन भी बरामद किया गया था.

सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए पुलिस अब पूरे मामले को आत्महत्या से जोड़कर देख रही है. अनुमान लगाया जा रहा है कि पहले एक युवक ने दो को गोली मारी उसके बाद उसने खुद को गोली मार ली. हालांकि पुलिस अभी किसी निश्चित नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है. पुलिस द्वारा मामले की छानबीन करने की बात कही जा रही है.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह: गांवा के कर्मा घाटी जंगल में बोरे में बंद मिला महिला का शव

वीडियो व फोटो में क्या है?

पुलिस द्वारा मृत तीनों युवक शानू मिश्रा, रितेश सुल्तानियां व शिवानंद सिंह का कुछ वीडियो व फोटो भी बरामद किया गया है. बरामद एक वीडियो में रितेश अपने हाथ में पिस्तौल रखे हुए हैं, जबकि कैमरे के पीछे मौजूद कोई व्यक्ति उसे दो मैग्जीन देता है, जिसमें से एक मैगजीन को रितेश नीचे फेंक देता है. जबकि दूसरे मैगजीन को पिस्टल में लोड करने के बाद सामने तानते हुए फायर करने की पोज दे रहा है.

वहीं बरामद एक फोटो में शानू के हाथ में पिस्टल मौजूद है और वह पोज दे रहा है. दूसरे फोटो में शानू, रितेश व शिवानंद तीनों मौजूद है. उस फोटो में शिवानंद अपने हाथ में पिस्तौल रखे हुए है. उसने पिस्तौल को रितेश की ओर घुमाकर रखा है, जबकि तीसरे फोटो में शानू अपने हाथ में पिस्तौल लेकर रितेश के सर में सताए हुए है व उसके गर्दन को अपने हाथ में पकड़े हुए हैं.

इस तरह के फोटो व वीडियो बरामद होने और फोटो में उनलोगों के पास मौजूद पिस्तौल व मैगजीन के घटनास्थल पर पाये गये पिस्तौल और मैग्जीन से मिलने के बाद अब पुलिस की जांच आत्महत्या की ओर घूम रही है. बहरहाल अब देखना है कि पुलिस की जांच कब तक पूरी होती है और पुलिस किस नतीजे पर पहुंचती है.

इसे भी पढ़ें – ट्रेन पर चढ़कर सेल्फी ले रहा था नवीं छात्र, बिजली के तार में सटने से झुलसकर मौत

क्या थी घटना

बता दें कि मंगलवार को जसीडीह थाना क्षेत्र के बाघमारा बस टर्मिनल के समीप स्थित एक निर्माणाधीन कमरे से रितेश सुलतानिया, सानू मिश्रा और शिवानंद सिंह का शव पुलिस द्वारा बरामद किया गया था. तीनों की गोली लगने की वजह से मौत हुई थी. पुलिस द्वारा घटनास्थल से एक पिस्टल, दो मैगजीन सहित तीन खोखा भी बरामद किया गया था, जबकि वहां पर नशा के रूप में उपयोग किया जाने वाला डेनड्राइट व पॉलीथिन भी बरामद किया गया था.

जिसके बाद तीनों के परिजनों ने पुलिस को जानकारी दी थी कि वे लोग सोमवार दोपहर ही घर से निकले थे, जिसके बाद वापस नहीं लौटे.

प्राप्त जानकारी के अनुसार रितेश और शानू काफी जिगरी दोस्त थे, जबकि शिवानंद, रितेश का अच्छा दोस्त था. रितेश ने ही शिवानंद की पहचान शानू से कराई थी. घटना के बाद से पुलिस मामले का उद्भेदन करने के प्रयास में जुटी हुई है.

इसे भी पढ़ें – जानिए उस स्वतंत्रता सेनानी को जिन्होंने मुंडारी में लिखी गांधीजी की जीवनी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: