न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बीजेपी नेता पर फायरिंग का मामला : दो युवकों को हिरासत में लिये जाने के विरोध में पंडरा ओपी का घेराव

149

Ranchi : बीजेपी नेता देवेंद्र सिंह पर रवि स्टील के पास हुई फायरिंग के मामले में पंडरा ओपी की पुलिस ने पूछताछ के लिए दो युवकों को हिरासत में लिया. इन दो युवकों को हिरासत में लिये जाने के विरोध में बुधवार को शुंडिल गांव के ग्रामीणों ने पंडरा ओपी का घेराव किया. ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस ने निर्दोष लोगों को हिरासत में लिया है. वहीं, पुलिस का कहना है कि अगर दोनों युवक निर्दोष हैं, तो पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया जायेगा.

ग्रामीण कर रहे हैं हिरासत में लिए जाने का विरोध

देवेंद्र सिंह पर हुई फायरिंग के मामले में मुख्य आरोपी राकेश और भरत हैं. पुलिस ने जिन दो युवकों को हिरासत में लिया है, वे दोनों युवक राकेश और भरत के करीबी माने जाते हैं, इसलिए शक के आधार पर पुलिस ने दोनों युवकों को हिरासत में लिया है.

hosp3

इसे भी पढ़ें- झारखंड हाईकोर्ट में सशरीर हाजिर हुए डीजीपी, कोर्ट ने लगाई फटकार

16 सितंबर को चली थी देवेंद्र सिंह के ऊपर गोली

16 सितंबर की रात करीब नौ बजे बीजेपी रातू मंडल के महामंत्री देवेंद्र सिंह पर रवि स्टील के पास एक बाइक पर सवार तीन अपराधियों ने तीन गोली चलायी थी. देवेंद्र सिंह की कमर में गोली लगी और वह घायल हो गये. उसके बाद उन्हें स्थानीय लोगों द्वारा रिम्स में भर्ती कराया गया, जहां उनकी स्थिति खतरे से बाहर बतायी गयी.

पुरानी दुश्मनी के कारण चली थी गोली

घायल बीजेपी नेता देवेंद्र सिंह ने पुलिस को बताया कि राकेश और भरत के साथ उनकी पुरानी दुश्मनी चल रही थी. हालांकि, उसके साथ मामले का समझौता भी हो चुका था. सिंह ने कहा कि उन्हीं दोनों ने पुरानी दुश्मनी के चलते मेरे उन पर गोली चलवायी है.

इसे भी पढ़ें- कोल साइडिंग और लोडिंग प्वाइंट पर वर्चस्व को लेकर चली 8 राउंड गोलियां, दो घायल

घटनास्थल के पास मौजूद थे राकेश और भरत

16 सितंबर की रात जिस समय भाजपा नेता देवेंद्र सिंह पर गोली चली थी, उस समय घटनास्थल पर राकेश और भरत दोनों मौजूद थे. वे उसे देख भी रहे थे. इसी को लेकर देवेंद्र सिंह ने आशंका जतायी है कि दोनों ने पुरानी दुश्मनी के चलते सूत्रों की मदद से उनके ऊपर गोली चलवायी है. देवेंद्र सिंह ने बताया कि 12 साल पहले भी उनके ऊपर शुंडिल गांव निवासी राजू सिंह ने गोली चलायी थी, जिसमें दिनेश सिंह के भतीजे को गोली लगी थी.

इसे भी पढ़ें- जहरीली शराब से 7 की मौत के बाद पुलिस हुई रेस, शराब माफियाओं की तलाश जारी

क्या कहते हैं पंडरा ओपी प्रभारी

पंडरा ओपी प्रभारी अनूप कहते हैं कि दोनों युवकों को शक के आधार पर पूछताछ के लिए लाया गया है. पूछताछ के क्रम में अगर दोनों युवक निर्दोष पाये जाते हैं, तो उन्हें छोड़ दिया जायेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: