JharkhandRanchiTop Story

आयुष्मान कार्डधारी से पैसे मांगने का मामला : पति की जान जाने का डर सता रहा लालपरी देवी को, कहा- बहुत नाराज हैं डॉक्टर साहब, कहीं…

Ranchi  : रिम्स के न्यूरो सर्जरी विभाग में 18 सितंबर से इलाज करा रहे अशोक चौहान की पत्नी लालपरी देवी अब रिम्स की कार्यपद्धति से डर चुकी हैं. वह अपने बीमार पति का इलाज अब रिम्स में नहीं कराना चाहती हैं. दरअसल, लालपरी देवी के पति छत से गिर गये थे, जिससे उनकी गर्दन में गंभीर चोट आ गयी थी. वह बीते 15 दिनों से हॉस्प्टिल में इलाज करा रहे हैं. लेकिन, बुधवार को हुई घटना के बाद दोनों पति-पत्नी डरे-सहमे हैं. अशोक चौहान की पत्नी लालपरी देवी का कहना है कि डॉक्टर उनसे नाराज हो गये हैं, कहीं वह उनके पति की जान न ले लें. अभी तो उनके पति हंस-बोल रहे हैं, कहीं ऐसा न हो कि उनके पति की जान ही चली जाये.

इसे भी पढ़ें- रिम्स : आयुष्मान कार्डधारी ने डॉ. सीबी सहाय से लगायी इलाज की गुहार, तो डॉक्टर ने थमाया…

नर्स ने कहा- तुमने डॉक्टर को नाराज किया है

Catalyst IAS
ram janam hospital

लालपरी देवी ने बताया कि खबर मीडिया में आने के बाद एक नर्स उनके पास आयी और कहने लगी कि तुमने डॉक्टर को बदनाम किया है. यह अच्छा नहीं किया. बहुत मीडिया में आने का शौक है तुमको. डॉक्टर तुमसे बहुत नाराज हैं. इसके बाद से ही लालपरी और उनके पति दोनों में डर बैठ गया है. कहीं कोई अनहोनी न हो जाये.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

इसे भी पढ़ें- NEWS WING IMPACT : आयुष्मान कार्डधारी से पैसे मांगने के मामले में रिम्स निदेशक बोले- हमसे…

किसी प्राइवेट अस्पातल में करा लेंगे इलाज

लालपरी देवी ने कहा कि रिम्स में इलाज कराने से अच्छा है किसी प्राइवेट अस्पताल में इलाज करा लेंगे. यहां की स्थिति बहुत खराब है, गरीबों को कोई पूछता नहीं. जैसे-तैसे अपने मरीज को रखे हैं, 15 दिन से एक बेड भी नहीं उपलब्ध कराया गया. अब तो मन में और डर बैठ गया है.

इसे भी पढ़ें- आयुष्मान भारत योजना में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी : मुख्यमंत्री

क्या हुआ था बुधवार को

दरअसल, लालपरी देवी के पति का इलाज रिम्स में डॉ सीबी सहाय कर रहे हैं. लालपरी देवी के पति अशोक चौहान की गर्दन में प्लेट लगाने की बात कही गयी थी. इसके लिए 50  हजार रुपये का खर्च बताया गया था. डॉ सीबी सहाय ने लालपरी देवी को सप्लार का फोन नं देते हुए उससे बात करने का मश्विरा दिया था. जबकि, लालपरी देवी के पास आयुष्मान भारत के तहत गोल्डेन कार्ड भी बना हुआ है. इसके बावजूद 50,000 रुपये खर्च होने की बात कही गयी. जब मामले को न्यूज विंग ने उठाया, तो रिम्स के प्रभारी निदेशक आरके श्रीवास्तव ने सफाई देते हुए कहा कि अनभिज्ञता के कारण ऐसी परिस्थिति उत्पन्न हुई थी. लेकिन, इन सब घटनाओं के बाद लालपरी देवी को अब दूसरी ही चिंता सता रही है. अशोक चौहान भी रिम्स से छुट्टी पाना चाहते हैं.

Related Articles

Back to top button