न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

SBI में अधिवक्ता की पिटाई का मामला : बैंक और थाना के खिलाफ आंदोलन की बनी रणनीति

235

Bermo : एसबीआई की बोकारो थर्मल शाखा में 16 नवंबर को हाई कोर्ट के अधिवक्ता अंजनी नंदन की मैनेजर की मौजूदगी में होमगार्ड के जवानों द्वारा पिटाई करने तथा बाद में स्थानीय थाना द्वारा मामले में अब तक कोई कार्रवाई नहीं किये जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. गुरुवार को स्थानीय डीवीसी के श्रमिक यूनियन कार्यालय में लगभग सभी राजनीतिक दलों एवं यूनियनों के नेताओं की उपरोक्त मसले को लेकर बैठक इंटक के प्रदेश सचिव हंसराज प्रसाद की अध्यक्षता में हुई. बैठक में अधिवक्ता अंजनी नंदन भी शामिल हुए और उन्होंने 16 नवंबर को एसबीआई में घटित वारदात की विस्तृत जानकारी बैठक में मौजूद सभी नेताओं एवं जनप्रतिनिधियों को दी. बैठक में एक स्वर से कहा गया कि एसबीआई की स्थानीय शाखा के मुख्य प्रबंधक के कार्यकाल में बैंक में ग्राहकों के साथ प्रबंधक के साथ-साथ कर्मचारियों का भी रवैया अशोभनीय हो गया है. मुख्य प्रबंधक से जब भी किसी मसले को लेकर कोई शिकायत की जाती है, तो उस पर सुनवाई करने की बजाय वह खुद शिकायतकर्ता से बेअदबी से पेश आते हैं. उन्होंने कहा कि बैंक के इस प्रकार के रवैये से तंग आकर वर्तमान में कई ग्राहकों एवं डीवीसी के वेतनभोगियों एवं पेंशनधारियों ने अपना खाता बंद करवाकर दूसरे बैंकों में खाता खुलवा लिया है.

लगाया आरोप- थानेदार ने नहीं की कार्रवाई

नेताओं ने कहा कि 16 नवंबर को बैंक में गार्डों द्वारा पहली बार एक सम्मानित ग्राहक के साथ महज बाहर जाने की मांग करने पर बुरी तरह से मारपीट की गयी. बैंक की घटना के बाद जब मामले की लिखित जानकारी थाना को दी गयी, तो थानेदार द्वारा कार्रवाई करने की बजाय गार्ड एवं मैनेजर को थाना बुलाकर उससे अधिवक्ता पर ही काउंटर केस करवा दिया गया, जो कहीं से भी न्यायसंगत प्रतीत नहीं होता है. वक्ताओं ने कहा कि थाना में इस प्रकार का काउंटर केस ज्यादातर मामले में देखने को मिलता है, ताकि दोनों से फिर सुलह करवाया जा सके. आंदोलन की रणनीति-बैठक में बैंक एवं थाना की अब तक की कार्रवाई के खिलाफ चरणबद्ध आंदोलन की रणनीति बनायी गयी. इसके तहत मामले को लेकर नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल बेरमो के एसडीएम एवं एसडीपीओ, बोकारो के डीसी एवं एसपी, होमगार्ड के समादेष्टा, कोयलांचल के डीआईजी तथा एसबीआई के रीजनल मैनेजर से मिलकर अवगत कराने का काम करेगा. इसके बाद भी कार्रवाई नहीं की गयी, तो सूबे के डीजीपी एवं सीएम से भी प्रतिनिधिमंडल मिलने का काम करेगा.

बैठक में इनकी रही भागीदारी

बैठक में इंटक के प्रदेश सचिव हंसराज प्रसाद के अलावा इंटक ददई के प्रदेश उपाध्यक्ष विकास कुमार सिंह, बेरमो प्रखंड कांग्रेस के प्रखंड अध्यक्ष प्रमोद सिंह, इसराफिल अंसारी, अजय कुमार सिंह, अरिसूदन सिंह, उदय प्रताप सिंह, किट्टू सिंह, डीवीसी श्रमिक यूनियन के बृजकिशोर सिंह, आरसीएमएस के बिरेंद्र कुमार सिंह, भाकपा के शाखा सचिव ब्रजकिशोर सिंह, राज्य कार्यकारिणी के सदस्य मो शाहजहां, सुजीत घोष, एआईवाईएफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष आफताब आलम खान, सीपीआई माले के बालगोविंद मंडल, बालेश्वर गोप, यादव महासभा के भीमलाल यादव, डीवीसी कर्मचारी संघ के सदन सिंह, इंटक आरसीएमएस के उपाध्यक्ष देवतानंद दुबे, राजद के प्रदेश उपाध्यक्ष अनवर आलम, इरशाद आलम, अफजल अंसारी, मंटू यादव, रोहित यादव, हाजी इदरीस अंसारी सहित सैकड़ों की संख्या में प्रतिनिधि मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें- अंधविश्वास में जकड़ा है गांव, भूत के डर से न तो होती है खेती और न बजती है शहनाई

इसे भी पढ़ें- पूर्व आईपीएस अधिकारी पीएस नटराजन को पड़ा दिल का दौरा, रिम्स में भर्ती

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: