Corona_Updates

दवाई दोस्त पर सैनिटाइजर के अवैध निर्माण और बिक्री को लेकर बरियातू थाना में मामला दर्ज

विज्ञापन

Ranchi: रांची में दवाई दोस्त द्वारा अवैध रूप से सैनिटाइजर की बिक्री और निर्माण को लेकर एफआइआर दर्ज कराया गया है. दवाई दोस्त में बिना लेबल के सैनिटाइजर बेचा जा रहा था,  जिसके बाद स्टेट ड्रग कंट्रोलर ऋतु सहाय के निर्देश से दवाई दोस्त पर छापा मारा गया था.

गुरुवार को बरियातू थाना में ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट के उल्लंघन  के तहत मामला दर्ज कराया है. बता दें कि रांची जिला के विभिन्न दवाई दोस्त के स्टोर में बिना लेबल के सैनिटाइजर बेचा जा रहा था. छापेमारी के दौरान रिम्स परिसर के दवाई दोस्त काउंटर के बगल में बने गैरेज से हजारों लीटर कच्चा माल और निर्मित सैनिटाइजर बरामद किया गया था. विभिन्न दवाई दोस्त काउंटर में 25 रुपये में 100 एमएल सैनिटाइजर बेचा जा रहा है.

इसे भी पढ़ें – #CoronaUpdates : धनबाद के संदिग्ध में कोरोना संक्रमण की पुष्टि, झारखंड में हुए 29 केस

advt

कोरोना से लड़ने में सबसे अहम हथियार है सैनिटाइजर

कोरोना की इस वैश्विक महामारी से लड़ने में सैनिटाइजर सबसे अधिक कारगर उपाय है. पूरे देश सहित राज्य में सैनिटाइजर की भारी कमी को देखते हुए इसकी बिक्री जोरों पर थी. जिला प्रशासन ने बीआइटी मेसरा के सहयोग से इसका निर्माण कराया था, पर बाद में इसे दवाई दोस्त को बेचने को कहा गया था.

इसे भी पढ़ें – 5 हों या 10 लाख प्रवासी मजदूर, मोबाइल एप की मदद से अगले एक सप्ताह में मिलेगी आर्थिक मदद : हेमंत

पूरे राज्य में सैनिटाइजर की भारी कमी

कोरोना की इस महामारी में सबसे अधिक सैनिटाइजर की जरूरत है. राज्य में सैनिटाइजर की भारी कमी है. जिस किसी दवा दुकान में सैनिटाइजर उपलब्ध है, वे या तो इसे अधिक दाम में बेच रहे हैं या फिर स्टॉक को दबा कर रख रहे हैं. इसको लेकर लगातार औषधि नियंत्रक विभाग छापेमारी भी कर रहा है. दवाई दोस्त से पहले राज्य के विभिन्न दवाई दुकानों पर छापेमारी के बाद एफआइआर भी दर्ज कराया गया है.

इसे भी पढ़ें – तीन मई को लॉकडाउन खत्म होने के बाद की हेमंत सरकार ने तय की रणनीति, जानिये प्रशासन को क्या मिला निर्देश

adv
advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button