JharkhandOFFBEATRanchiTOP SLIDER

‘कैप्टन कूल’ अब पशुपालन में भी नंबर वन

Ranchi: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को सर्वश्रेष्ठ पशुपालक का सम्मान दिया गया. उन्हें यह सम्मान बिरसा कृषि विश्वविद्यालय में आयोजित कृषि मेले में विधानसभा स्पीकर रविंद्र महतो ने दिया.

मेले में आयोजित प्रदर्शनी में धोनी के सांड़ और गाय को बेहतर बताया गया. पहली बार धोनी की गाय लोगों को देखने के लिए सामने लायी गयी थी. अपने 43 एकड़ के फार्म हाउस में धोनी सब्जी-फल की खेती के साथ-साथ डेयरी फार्म भी चलाते हैं, जिसमें 104 गायें रखी गयी हैं.

बिहार के मनेर के रहने वाले हरेंद्र राय धोनी के गायों की सेवा करते हैं. उन्होंने बताया कि धोनी जब भी डेयरी फार्म में आते हैं तो गाय के बछड़े को अपनी गोद में उठा लेते हैं और बहुत प्यार करते हैं. फ्रीजियन नस्ल की गाय एक दिन में 35 लीटर दूध देती है जिसमें लगभग 20 लीटर दूध धोनी के घर पर भेजते हैं.

इसे भी पढ़ें : न्यूजविंग की खबर का असर, खिलाड़ी कोनिका लायक को मिलने लगी मदद

धोनी के सांड़ ने मेले में किया हंगामा

कृषि मेले में धोनी के सांड़ ने कृषि मेले में हंगामा मचा दिया. आधे घंटे तक धोनी के फार्म हाउस के पाले हुए सांड कृषि मेले में जमकर अपना खेल दिखाया.

उसे जैसे ही गाड़ी से उतारकर प्रदर्शनी के लिए लाया जा रहा था, लोगों को देखकर वो अचानक भड़क गया. वो संभाले ही नहीं संभल रहा था. सांड़ की हरकत देखकर आम लोगों के साथ साथ दूसरे पशु भी सहम गये.

चार लोगों को उसको काबू करने में काफी मशक्कत करनी पड़ी, तब जाकर उसको काबू में किया जा सका. कृषि मेले में फ्रांस की फ्रीजियन और देश की साहीवाल नस्ल की गाय के साथ-साथ सांड़ भी लोगों के आकर्षण का केंद्र बन गया था. सेल्फी लेने वालों की होड़ सी मच गयी थी. धोनी का कड़कनाथ और ग्रामप्रिया नस्ल के मुर्गे भी प्रदर्शनी में पहली बार लाये गये थे.

इसे भी पढ़ें : तमिलनाडु विधानसभा चुनाव: ‘आहत’ हैं कांग्रेस अध्यक्ष, डीएमके से गठबंधन पर संशय

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: