न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आर्यभट्ट बीएड काउंसलिंग कैंपस : टेंट हटा, अब केनोपी लगाये हुए हैं निजी संस्थान

961

Ranchi : मोरहाबादी में बीएड काउंसलिंग में आ रहे उम्मीदवारों को मैनेज करने के मकसद से निजी बीएड कॉलेजों द्वारा आर्यभट्ट सभागार के बाहर लगाये गये स्टॉल को नगर निगम ने शुक्रवार को हटा तो दिया पर इसका विशेष असर नहीं हुआ. शनिवार को कॉलेजों ने फिर से स्टॉल लगा दिये हैं. इस बार बड़े टेंट की बदले केनोपी लगाये गये हैं. 

नगर निगम की टीम निजी बीएड कॉलेजों के स्टॉल से बैनर-पोस्टर उखाड़ कर ले गयी थी, लेकिन बांस-बल्ली अभी भी लगी हुई है. चूंकि वहीं डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी विवि में भी एडमिशन की प्रक्रिया चल रही है, कक्षाएं चल रही हैं, ऐसे में लगभग जाम की स्थिति बनी रह रही है.

इसे भी पढ़ें : मॉब लिंचिंग पर आजम खान ने  कहा, बंटवारे के समय पाकिस्तान चले जाते मुसलमान, तो उन्हें यह सजा नहीं मिलती

एडमिशन फीस में दे रहे खुला ऑफर

निजी बीएड कॉलेज काउंसलिंग में जाने वाले उम्मीदवारों को अपना कूपन नंबर देकर कॉलेज को अपने च्वाइस में डालने को कह रहे हैं. निजी कॉलेज उम्मीदवारों को एडमिशन फीस में डिस्काउंट भी दे रहे हैं. वैसे उम्मीदवार जो जिस कॉलेज को च्वाइस फिलिंग कर सीट अलॉट करा लेते हैं, उन्हें कॉलेज 20 हजार रुपये तक का डिस्काउंट दे देते हैं. यही वजह है कि नगर निगम की कर्रवाई के बाद भी निजी कॉलेज स्टाफ कैंपस के बाहर डटे हुए हैं.

फीस की वजह से निजी कॉलेजों की ओर बढ़ रहा छात्रों का रुझान

निजी कॉलेजों की ओर से उम्मीदवारों को फीस में डिस्काउंट और इन्स्टॉलमेंट जैसे ऑफर दिये जाने की वजह से उम्मीदवारों का रुझान निजी कॉलेजों की ओर बढ़ रहा है. कैटेगरी रैंक में आये कई उम्मीदवार इसी वजह से निजी कॉलेज को पसंद कर रहे हैं.

SMILE

हजारीबाग से आयी रत्ना महतो, पलामू से आये जितेंद्र, बोकारो से आये संदीप रजवार ने बताया कि सरकारी कॉलेज और प्राइवेट कॉलेज की फीस लगभग एक समान है, लेकिन सरकारी कॉलेज में नामांकन शुल्क की पहली किस्त एकमुश्त मांगी जा रही है जबकि निजी बीएड कॉलेज कई इंस्टॉलमेंट में पैसे देने की बात कह रहे हैं.

वैसे उम्मीदवार जो आर्थिक रूप से कमजोर परिवार से ताल्लुक रखते हैं, उनका सरकारी बीएड कॉलेज में चयन होने के बाद भी नामांकन लेना संभव नहीं हो पा रहा है.

इसे भी पढ़ें : दिल्ली की पूर्व CM शीला दीक्षित का 81 साल की उम्र में निधन

पहले राउंड में शामिल छात्र दूसरी काउंसलिंग में नहीं ले सकते हिस्सा

काउंसलिंग कमेटी के चेयरनमैन डॉ संजय मिश्रा ने बताया कि पहली बार की काउंसलिंग में रजिस्ट्रेशन के बाद हिस्सा ले चुके उम्मीदवारों को दूसरे राउंड की काउंसलिंग में शामिल होने नहीं दिया जायेगा. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि जिस छात्र को जो कॉलेज अलॉट कर दिया है, वे कॉलेज में भी बदलाव नहीं कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : ATS इन्वेस्टिगेशन शुरू होने से पहले ही सरायकेला नक्सली हमले का हो गया खुलासा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: