JamshedpurJharkhand

हाइस्कूल शिक्षक नियुक्ति : छह जिलों में इतिहास के अभ्यर्थी शिक्षक बन पढ़ा रहे, 18 जिलों को रिजल्ट का इंतजार

Jamshedpur :  राज्य सरकार हाईस्कूल शिक्षक नियुक्ति को अपनी उपलब्धियों में भले ही शुमार करती हो, लेकिन जेएसएससी ने इतिहास और नागरिकशास्त्र के 18 जिले के करीब 1500 अभ्यर्थियों का परिणाम ही प्रकाशित नहीं किया है. दूसरी ओर इन दोनों विषयों के छह जिले के अभ्यर्थी हाई स्कूल में योगदान दे रहे हैं.

नियुक्ति प्रक्रिया के लिए 2016 में विज्ञापन प्रकाशित किया गया था जिसके तीन वर्ष होने को हैं. लेकिन अब तक नियुक्ति प्रक्रिया पूरी नही की जा सकी. वहीं इस संबंध में अभ्यर्थियों द्वारा जब जेएसएससी से सवाल किया गया तो जेएसएससी ने बताया कि इतिहास व नागरिकशास्त्र विषय में प्राचीन इतिहास की अहर्ता रखने वाले उत्तरप्रदेश के अभ्यर्थियों द्वारा न्यायालय में याचिका लगाये जाने के बाद स्टे लगा दिया गया है जिस कारण परिणाम प्रकाशित नहीं किया गया है. न्यायालय में दायर किये गये केस का नंबर 6309 /2018 है.

advt

स्टे के बाद भी देवघर और लातेहार जिले के परिणाम जारी हुए

हाईस्कूल शिक्षक नियुक्ति के लिए निकाले गये विज्ञापन में अहर्ता का ही जिक्र किया गया था. ऐसे में जेएसएससी को लेकर बड़ा सवाल यह उठता है कि 18 जिले का परिणाम अखिर किस मंशा से रोके गये हैं. जबकि केस न. 6309 /2018 को लेकर स्टे लगने के बाद भी देवघर तथा लातेहार जिले में प्राचीन इतिहास वाले के अंतिम परिणाम प्रकाशित किये गये.

वहीं 18 जिलों के परिणाम को रोके रखने पर कई संदेह होना वाजिब है. पड़ोसी राज्य बिहार में प्राचीन इतिहास विषय वालों को अध्यापक बहाली में दो बार बाहर किया जा चुका है.

कोल्हान में जिन विषयों के परिणाम प्रकाशित हुए, उनके प्रमाण पत्रों का सत्पान बाकी

कोल्हान में हाईस्कूल शिक्षक नियुक्ति 2016 में इतिहास नागरिकशास्त्र विषय के अंतिम परिणाम के साथ-साथ कोल्हान प्रमंडल के प्रमाण पत्र सत्यापन का काम भी जेएसएससी में लंबित है. वहीं अन्य विषयों के अंतिम परिणाम आने के बाद विद्यालयों में अभ्यार्थी अब शिक्षक के रूप में योगदान भी दे रहे हैं.

पश्चिम सिंहभूम के इतिहास के अभ्यर्थी हेमंत ठाकुर कहते हैं कि जिस तरीके से जेएसएससी के द्वारा इतिहास और नागरिक शास्त्र विषय के 1500 परिणाम रोककर रखा गया है उससे कई तरह के संदेह खड़े होते हैं. जबकि न्यायालय द्वारा द्वारा स्टे लगने के बाद देवघर और लातेहार का अंतिम परिणाम प्रकाशित किया गया है.

सीएम से मिलने पर मिलता है सिर्फ आश्वासन

इतिहास विषय के अभ्यर्थी मुख्यमंत्री के जमशेदपुर स्थित आवास में मिले और मेमोरेंडम दिया. अभ्यर्थियों  ने न्यूजविंग को बताया कि इससे पहले भी दो बार सीएम से मिल चुके हैं. आज भी सीएम ने छात्रों को सिर्फ अश्वासन ही दिया है. एक ओर जहां एक ही विज्ञापन के आवेदक राज्य में नौकरी कर रहे हैं.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: