JharkhandLead NewsRanchi

कैंसर लाइलाज नहीं, इससे लड़ने की जरूरत

Ranchi: डीआईजी अनीश गुप्ता ने कहा कि कैंसर लाइलाज नहीं है. इसका इलाज संभव है लेकिन, इससे लड़ाई ज़रूरी है. अगर समय रहते हम इसका पता लगा लें और बेहतर इलाज कराएं, तो कैंसर को हराया जा सकता है. राष्ट्रीय कैंसर जागरूकता दिवस की पूर्व भगवान महावीर मेडिका सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल द्वारा रविवार को मोरहाबादी मैदान में वॉकथॉन में संबोधित कर रहे थे. विशिष्ट अतिथि एसएसपी किशोर कौशल ने कहा कि कैंसर के प्रति जागरुक रहने की आवश्यकता है. मेडिकल डायरेक्टर डॉ विजय मिश्रा ने कहा कि अब रांची में ही कैंसर का बेहतरीन इलाज संभव है. इलाज के लिए बाहर जाने की जरूरत अब नहीं है. मेडिका अस्पताल ने कैंसर रोग के नए विशेषज्ञों की टीम बनायी है, जहां सर्जिकल व मेडिकल आन्कोलॉजी के साथ कीमोथेरेपी जैसी सुविधाएँ उपलब्ध हैं. आन्कोलॉजिस्ट डॉ गुंजेश कुमार सिंह ने कहा कि पिछले एक साल में हमने हज़ारों मरीज़ों को देखा है. कैंसर का इलाज आसान हुआ है और अफोर्डेबल भी है. मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी योजना और आयुष्मान भारत जैसी योजनाओं का सहारा लेकर गरीब मरीज़ भी अपना इलाज करा सकते हैं. इसलिए इसका डर मन से निकाल दीजिए. इलाज कराइए और स्वस्थ रहिए. सर्जिकल ऑंकोलॉजिस्ट डॉ सुरेश एम ने कहा कि दो-तीन दशक पहले तक यह आम धारणा थी कि कैंसर  का मतलब है जीवन का अंत. लेकिन अब धीरे धीरे लोगों की समझ में आने लगा है कि यदि समय से इलाज हो तो कैंसर को मात दी जा सकती है. एवीपी अनिल कुमार ने कहा पिछले करीब एक साल से मेडिका अस्पताल में कैंसर के इलाज की सुविधा उपलब्ध है. मेडिका समूह बहुत जल्द ही रांची में एक नया अस्पताल शुरू करने जा रहा है, जहां सिर्फ कैंसर के मरीजों का ही इलाज होगा. कैंसर के प्रति जागरूक करने के लिए आयोजित वॉकथॉन को डीआईजी व एसएसपी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.

इसे भी पढ़ें: एक बार फिर राजनीतिक अस्थिरता की ओर बढ़ रहा है झारखंड !

Related Articles

Back to top button