न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कैंसर पेशेंट मीट का आयोजन, टाटा ग्रुप के साथ मिलकर झारखंड में शुरू होगा कैंसर हॉस्पिटल

416

Ranchi : राज योग केंद्र में मैक फाउंडेशन द्वारा कैंसर पेशेंट मीट का आयोजन किया गया. जिसमें झारखंड के विभिन्न जिलों से 120 कैंसर मरीजों ने भाग लिया. रांची, गढ़वा, कोडरमा, बोकारो, जामताडा, रामगढ़, डाल्टनगंज, धनबाद, गिरिडीह, साहिबगंज एवं पतरातू से कैंसर पेशेंट खासकर इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए रांंची पहुंचे. कार्यक्रम की शुरूआत राष्ट्रगान के साथ हुई. जिसके बाद मैक फाउंडेशन के रांची सिटी चैप्टर लीडर ऋषि शाहदेव ने मुख्य अतिथि प्रधान सचिव स्वास्थ्य विभाग निधि खरे, मैक फाउंडेशन के एशिया पैसिफिक अध्यक्ष विजी वेंकटेश एवं विभिन्न जिलों से आये कैंसर के मरीजों का स्वागत किया. निधि खरे मैक फाउंडेशन की एशिया पैसिफिक हेड विधि वेंकटेश एवं मैक फाउंडेशन के रांची सिटी चैप्टर लीडर ऋषि शाहदेव ने दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का आरंभ किया.

इसे भी पढ़ें- यशवंत सिन्हा का ट्वीट- पहले मैं लायक बेटे का नालायक बाप था, अब रोल बदल गया है

15 साल से कैंसर से लड़ कर दूसरों के लिए बने प्रेरणा

ऋषि शहदेव ने बताया की पूरे झारखंड के कैंसर पेशेंट का तीसरा कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है. ऐसे कार्यक्रमों के द्वारा सभी कैंसर पेशेंट एक दूसरे से मिलते हैं और अपना सुख दुख साझा करते हैं. जिससे एक दूसरे को बहुत हिम्मत और बल मिलता है. उन्होंने अपने स्वागत भाषण में कहा कि वह खुद आज इस बीमारी से लड़ते हुए 15 वें साल में हैं और उन्हें अन्य कैंसर के मरीजों से प्रेरणा मिलती है. 15  साल से बिल्कुल ठीक है और स्‍वस्‍थ्‍य जीवन व्यतीत कर रहे हैं. तो वह दूसरों के लिए भी एक प्रेरणा स्रोत बनते है. ऋषि शाहदेव ने बताया कि 120  कैंसर मरीज झारखंड के विभिन्न जिलों से इस कार्यक्रम में भाग ले रहे हैं. फाउंडेशन की एशिया-पैसिफिक हेड विजय वेंकटेश ने कहा कि ऐसे कार्यक्रम के आयोजन से मरीजों को नये इलाज और दवाई की जानकारी दी जा सकती है. मरीजों को भी एक-दूसरे से मिलने का अवसर प्राप्त होता है.

इसे भी पढ़ें- बेबुनियाद नहीं बच्चा चोरी का डर, साल 2016 में देशभर से 55,000 बच्चे हुए अगवा

टाटा ग्रुप के साथ मिलकर झारखंड में कैंसर हॉस्पिटल बनाने की योजना

मुख्य अतिथि निधि खरे ने विजी वेंकटेश एवं ऋषि शाहदेव को ऐसे आयोजन के लिए बधाई दी. उन्होंने कहा कि टाटा ग्रुप के साथ मिलकर झारखंड में एक कैंसर हॉस्पिटल बनाने की योजना बन रही है. उन्होंने कहा कि वे रिम्स के ऑंकोलॉजी डिपार्टमेंट में नई तकनीक लाना चाहेंगे ताकि हमारे झारखंड के मरीजों का इलाज हमारे राज्य में ही हो सके. उन्हें अपने इलाज के लिए दिल्ली-मुंबई ना भटकना पड़े. उन्होंने विशेषकर सभी कैंसर के मरीजों को जीवन में योग अपनाने को भी कहा जिसके कई चमत्कारी उदाहरण हमारे सामने हैं. योग करने से लोगों की बीमारी दूर हो गई और वह एक स्‍वस्‍थ्‍य जीवन बिता रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- बीजेपी सांसदों ने केंद्रीय ऊर्जा मंत्री से कहा : झारखंड में नहीं मिलती 10 घंटे भी बिजली, केंद्रीय मंत्री ने कहा- CM से करूंगा बात

रिम्स में अगले वर्ष से आयोजन

कार्यक्रम में रिम्स के डॉ अनूप कुमार ने मरीजों के प्रश्नों का जवाब दिया. मैक्स फाउंडेशन से अनुरोध किया कि अगले वर्ष इस कार्यक्रम का आयोजन रिम्स में किया जाये. कई मरीजों ने जानना चाहा कि ब्लड कैंसर क्रोनिक माइलॉयड ल्यूकेमिया के पेशेंट विवाह कर सकते हैं क्या? इस पर उन्होंने अपनी रजामंदी दी और कहा हमारे इस बैठक में ऐसे कई लोग उपस्थित हैं जो पिछले 20 साल से भी अधिक से इस बीमारी के होने पर भी आज जीवित है. अच्छे से अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- पत्र फर्जी है तो लिखावट के नमूने और हस्ताक्षर की जांच हो, सबकुछ साफ हो जाएगा- बाबूलाल

मरीजों ने साझा किए अपने अनुभव

विभिन्न जिलों से आए कैंसर के मरीजों ने भी इस कार्यशाला को लेकर अपना अनुभव बताते हुए कहा हमें बहुत अच्छा लगा इस कार्यक्रम में शामिल होकर. हमारी बहुत सारी प्रश्नों का उत्तर मिला और ऐसे कार्यक्रम आयोजित होते रहना चाहिए.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: