NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

साबित कर सकता हूं कि सीएम ने भूमि अधिग्रहण बिल लाकर गलती की है : हेमंत

871
mbbs_add

Ranchi : मैं चाहता हूं कि सदन चले. लेकिन, सरकार नहीं चाहती है कि सदन की कार्यवाही चले. इस समस्या के समाधान के लिए राजनीतिक और व्यक्तिगत सोच से ऊपर उठने की जरूरत है. मैंने विधानसभा की कार्यमंत्रणा की बैठक में इसका समाधान निकालने की कोशिश की. मैंने मुख्यमंत्री जी से कहा कि इसी बैठक में एक प्रक्रिया द्वारा मुझे साबित करने का मौका दिया जाये कि सीएम ने भूमि अधिग्रहण बिल लाकर गलती की है. अगर मैं गलत साबित हो गया, तो कल से सदन में इसे वापस करने की बात नहीं कहूंगा और अगर मैंने साबित कर दिया, तो सरकार को इस विधेयक को वापस लेना होगा. उक्त बातें आज बुधवार को नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने सदन की कार्यवाही खत्म होने के बाद मीडिया के समक्ष कहीं.

इसे भी पढ़ें- चहेते उद्योगपतियों के कहने पर भूमि अधिग्रहण संशोधन बरकरार रखना चाहती है सरकार: प्रदीप यादव

बहुमत के अहंकार में डूबे हुए हैं मुख्यमंत्री

हेमंत सोरेन ने कहा कि जैसा कि सभी जानते हैं कि सीएम की सहनशीलता जरा कमजोर है, वह बहुमत के अहंकार में डूबे हुए हैं. मेरी बातों के जवाब में सीएम ने कहा कि मेरी बहुमत वाली सरकार है. मैं जो चाहे वह करूंगा. हेमंत सोरेन ने कहा कि सीएम ने इस बात का जवाब देते हुए कहा कि 2019 में जब जेएमएम की बहुमत वाली सरकार होगी, विधेयक को खत्म कर देना. हेमंत ने कहा कि क्या सदन मुख्यमंत्री की जागीर है. हर जगह लूट मची है. टेंडर में, हर योजना में लूट मची हुई है. लेकिन, जब बात झारखंड के अस्तित्व की आयेगी तो, मैं जरूर आवाज उठाऊंगा.

इसे भी पढ़ें- यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, आंसूगैस के गोले दागे, कई कांग्रेसी घायल

एक महिला अधिकारी प्रदेश से गायब है

Hair_club

हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड से एक महिला अधिकारी गायब है. सरकार को उसका पता लगाना चाहिए कि आखिर वह गयी कहां. महिला का नाम रेणु गोपीनाथ पर्रिकर है. वह झारक्राफ्ट में कभी सीईओ थीं, लेकिन आजकल कहां हैं, पता नहीं. झारक्राफ्ट में वह बहुत बड़ा घोटाला करके गायब हैं. सरकार बताये कि वह महिला आखिर है कहां. साथ ही घोटाले को लेकर सरकार श्वेत पत्र जारी करे.

इसे भी पढ़ें- मुख्यमंत्री के गृहनगर में नया फरमान, अब टॉमी, शेरू और ब्लैकी का भी देना होगा टैक्स

लोकतंत्र का गला घोंट रही बीजेपी सरकार

पाकुड़ में स्वामी अग्निवेश पर हुए हमले के मामले को लेकर हेमंत सोरेन ने कहा कि बीजेपी की सरकार लोकतंत्र का गला घोंट रही है. स्वामी को सड़क पर पीटनेवालों की गिरफ्तारी होने के बाद सीएम ने फोन करके सभी को छुड़वाया. ऐसे में साबित होता है कि सीएम और पार्टी की शह पर ही भाजुयमो के कार्यकर्ताओं ने स्वामी अग्निवेश पर हाथ छोड़ा था.

इसे भी पढ़ें- स्वामी अग्निवेश की पिटाई पर सदन में हंगामा, सीपी सिंह ने बताया विदेशी दलाल-कार्यवाही बाधित

लोकतंत्र बचाने के लिए प्रदेश भर में फूंका जायेगा विपक्ष का पुतला : अनंत ओझा

इधर, मीडिया को संबोधित करते हुए राजमहल के बीजेपी विधायक अनंत ओझा ने कहा कि जिस तरह से विपक्ष सदन नहीं चलने दे रहा है, वह एक चिंता का विषय है. लोकतंत्र खतरे में है. किसी भी कीमत पर लोकतंत्र को बचाने का काम बीजेपी करेगी. इसी सिलसिले में गुरुवार को राज्य भर में जिला स्तर पर विपक्ष का पुतला जलाया जायेगा. वहीं, स्वामी अग्निवेश के मामले को लेकर उन्होंने कहा कि हिंसा की जगह लोकतंत्र में कभी नहीं होनी चाहिए. लेकिन, किसी एक धर्म को लेकर हर वक्त दुष्प्रचार भी नहीं किया जाना. इस मामले में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अच्छा कदम उठाया है. जानकारी मिलते ही कमिश्नर और डीआईजी को संयुक्त रूप से जांच करने का निर्देश दिया है. जांच रिपोर्ट आने के बाद निश्चित रूप से सरकार कार्रवाई करेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

nilaai_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

bablu_singh

Comments are closed.