JharkhandLead NewsRanchi

ई-श्रम पोर्टल पर निबंधन के लिए रात में भी संचालित होंगे कैंप

Ranchi: असंगठित मजदूरों के ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए रांची जिला के सभी प्रखंडों में कैंप लगाया जायेगा. सभी प्रखंडों में ये कैम्प रात में भी संचालित होंगे. साथ ही उपायुक्त रांची छविरंजन इन शिविरों का निरीक्षण भी करेंगे. गुरुवार को समाहरणालय स्थित उपायुक्त सभागार में आयोजित बैठक में उपायुक्त रांची छवि रंजन ने इससे संबंधित आवश्यक दिशा निर्देश पदाधिकारियों को दिये. बैठक में उप विकास आयुक्त रांची विशाल सागर, श्रम अधीक्षक, ज़िला खनन पदाधिकारी, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, वीएलई एवं अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – सरकार गिराने की साजिश मामलाः मोबाइल और अन्य डिवाइस की फोरेंसिक जांच कोलकाता और अहमदाबाद के लैब में होगी

advt

सभी ब्लॉक में कैंप लगाने का निर्देश

बैठक के दौरान उपायुक्त छवि रंजन ने ई-श्रम पोर्टल में असंगठित मजदूरों के निबंधन के लिए सभी प्रखंडों में कैंप लगाने का निर्देश दिया. उन्होंने कहा के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए प्रखंडस्तरीय टास्क फोर्स की बैठक करें और ज्यादा से ज्यादा मजदूरों का रजिस्ट्रेशन सुनिश्चित करायें.

शाम में लगेगा कैंप रात तक चलेगा

ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए विभिन्न प्रखंडों में लगाये गये कैंप शाम से शुरू होंगे जो देर रात तक चलेंगे. इस दौरान काम कर वापस लौट कर आने वाले असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के पास पर्याप्त समय होगा कि वह अपना निबंधन पोर्टल पर करा पायें.

ज्यादा से ज्यादा लोगों का निबंधन कराने का निर्देश

बैठक के दौरान उपायुक्त रांची छवि रंजन ने कहा कि सहिया, रसोईया, सेविका मनरेगा कार्ड होल्डर के साथ-साथ पीडीएस डीलर का भी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करायें. उन्होंने कहा कि असंगठित क्षेत्र का हर मजदूर जो अहर्त्ता रखता है उसका पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराएं ताकि भविष्य में उसे विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ मिल सके. उपायुक्त ने ईंट भट्ठा में काम करने वाले मजदूरों का भी रजिस्ट्रेशन कराने का निर्देश जिला खनन पदाधिकारी को दिया.

बीडीओ से पूछा क्या है योजना

बैठक के दौरान उपायुक्त रांची ने असंगठित क्षेत्र के मजदूरों का ज्यादा से ज्यादा रजिस्ट्रेशन के लिए क्या योजना है, इस पर प्रखंड विकास पदाधिकारियों की राय ली. उन्होंने कहा कि सभी बीडीओ पोर्टल पर मजदूरों के रजिस्ट्रेशन के कार्य में फोकस करें. उपायुक्त ने पोर्टल पर मजदूरों का ज्यादा से ज्यादा रजिस्ट्रेशन के लिए वीएलई की संख्या बढ़ाने का निर्देश संबंधित पदाधिकारियों को दिया. साथ ही कहा कि प्रत्येक दिन प्रखंडवार रिपोर्ट उपलब्ध करायें.

इनका होगा ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन

सन्निर्माण कामगार, प्रवासी कामगार, खेतीहर कामगार, पशुपालन मजदूर, आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, घरेलू कामगार, मछुआरा, ईट भट्ठा/क्रशर में काम करने वाले मजदूर, मनरेगा कामगार, एनआरएलएम/एनयूएलएम के अंतर्गत एसएसजी सदस्य, स्ट्रीट वेंडर्स, रिक्शा चालक, मिड डे मील कामगार, फेरीवाला इत्यादि.

ई-श्रम पोर्टल पर निबंधन के लिए आवश्यक पात्रता

  • श्रमिक की उम्र 16 से 59 वर्ष के बीच होनी चाहिए.
  • जो आयकर दाता न हो.
  • ईपीएफओ/ईएसआईसी/एनपीएस का सदस्य न हो.
  • असंगठित श्रमिक श्रेणियों में कार्यरत हो.

पोर्टल पर निबंधन के लिए ये है जरूरी

  • आधार संख्या
  • आधार से जुड़ा मोबाइल एवं एक्टिव मोबाइल नंबर.
  • आईएफएससी कोड के साथ बचत बैंक खाता.

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के मुताबिक अगर किसी भी श्रमिक के पास उसका आधार लिंक मोबाइल नंबर नहीं है तो वह अपने नजदीकी सीएससी सेंटर में बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन के द्वारा रजिस्ट्रेशन करवा सकता है.

ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन से लाभ

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के मुताबिक रजिस्ट्रेशन के बाद असंगठित कामगारों को पीएमएसबीवाई के तहत दो लाभ का दुर्घटना बीमा कवर मिलेगा. भविष्य में ऐसे कामगारों के सभी सामाजिक सुरक्षा लाभ इस पोर्टल के माध्यम से प्रदान किये जायेंगे. यह कार्ड पूरे देश में मान्य होगा तथा असंगठित कामगारों को पहचान मिलेगी. आपातकालीन और राष्ट्रीय महामारी जैसी स्थितियों में पात्र असंगठित कामगारों को आवश्यक सहायता प्रदान करने के लिए इस डेटाबेस का उपयोग किया जायेगा.

निबंधन के लिए मजदूरों को ये करना होगा

असंगठित कामगार इस पोर्टल पर या निकटतम सीएससी सेंटर पर जाकर अपना पंजीकरण करवा सकते हैं. पंजीकरण निःशुल्क है. कामगारों को सीएससी ऑपरेटर सहित किसी तरह की कोई शुल्क देने की आवश्यकता नहीं है.

इसे भी पढ़ें – दीवाली पर रहें सतर्क, अनचाहा मेहमान कोरोना दे सकता है दस्तक

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: