HEALTHJharkhandPalamu

पलामू को फाइलेरिया मुक्त करने के लिए 26 से चलेगा अभियान

1453 बूथों पर दी जाएगी अल्बेंडाजोल व डीइसी की दवा

Palamu: पलामू जिले को फाइलेरिया से मुक्त करने के लिए 26 से 30 जुलाई तक अभियान चलाया जाएगा. स्वास्थ्य विभाग की ओर से अभियान की शुरुआत की जा रही है. इसमें दो साल से ऊपर के बच्चे सहित अन्य लोगों को अल्बेंडाजोल व डीइसी की खुराक की जाएगी.

गर्भवती महिलाओं, दो वर्ष के नीचे के बच्चे और बीमार लोगों को दवा नहीं देना है. यह जानकारी पलामू के सिविल सर्जन डा अनिल कुमार ने कही. वे शनिवार को सिविल सर्जन कार्यालय सभागार में संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे.

कहा कि फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए तैयारी प्रारंभ कर दी गई है. प्रखंड से लेकर गांवों में इसके लिए प्रचार-प्रसार किया जाएगा.

advt

इसे भी पढ़ें :BIG BREAKING: सरकार गिराने की साजिश में पुलिस ने जिन्हें गिरफ्तार किया, उनमें एक सब्जी बेचता है, दूसरा दिहाड़ी मजदूर!

पलामू जिले में 26 से 30 जुलाई तक फाइलेरिया मुक्ति अभियान चलेगा. स्थानीय जनप्रतिधियों का भी इसमें सहयोग लिया जाएगा. इसके पीछे उद्देश्य है कि अधिक से अधिक लोग इस कार्यक्रम से जुड़कर दवा खा सकें.

कहा कि 26, 27 व 28 जुलाई को बूथों पर दवा खिलाई जाएगी. कोरोना संक्रमण के कारण स्कूल आदि बंद है. इस कारण परेशानी होगी.

इसे भी पढ़ें :पड़तालः झारखंड के मनरेगा रोजगार में आदिवासी-दलित मजदूरों का हिस्सा 51 से गिरकर 30 फीसदी पर क्यों पहुंचा?

आंगनबाड़ी केंद्रों में बूथों का गठन किया गया है. पलामू जिले में 1453 बूथ बनाए गए हैं. इसमें 18 बूथ मेदिनीनगर शहर में स्थित है.

कहा कि प्रखंड स्तर पर दवाओं की आपूर्ति कर दी गई है. बताया कि 26, 27 व 28 जुलाई को बूथों पर दवा खाने से वंचित रहने वाले लोगों को 29 व 30 जुलाई को घ्र-घर जाकर दवा खिलाई जाएगी. दवा खिलाने के लिए 2600 कर्मियों को लगाया गया है. इसमें आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका, एएनएम आदि शामिल हैं. अभियान की सफलता के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम जारी है.

मौके पर फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के नोडल पदाधिकारी डा एमपी सिंह, डीपीएम दीपक कुमार गुप्ता, कार्यक्रम के समन्वयक सुनील सिंह आदि मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें :विधायकों की खरीद-फरोख्तः निशिकांत ने ली चुटकी, कहा- सीएम ने विधायकों की बकरे से भी कम कीमत लगायी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: